Top
Home > Archived > नगर निगम ने हटाए अतिक्रमण

नगर निगम ने हटाए अतिक्रमण

नईसड़क, फालका बाजार में मची अफरा-तफरी

8 दुकानें खुलने से पहले ही शुरू हो गई कार्रवाई ८ जगह-जगह जाम से परेशान रहे लोग
ग्वालियर। नगर निगम द्वारा इन दिनों चलाई जा रही अतिक्रमण विरोधी मुहिम के तहत शुक्रवार को मदाखलत दस्ते ने निगमायुक्त अनय द्विवेदी के निर्देशन में शुक्रवार सुबह से ही तुड़ाई शुरू कर दी। स्थिति यह थी कि सूचना मिलने पर जब तक दुकानदार वहां पहुंचे उन्हें निगम अमला उनकी दुकानों की तोडफ़ोड़ करता मिला। इतना ही नहीं जहां भी निगम अमला पहुंचा जाम की स्थिति बन गई। जिन बाजारों में कार्रवाई हुई वहां दिनभर अफरातफरी मची रही।
लश्कर क्षेत्र में राममंदिर चौराहा से शुरू हुआ यह अभियान गश्त का ताजिया, नईसड़क, हनुमान चौराहा, जनकगंज और महाराजबाड़ा होते हुए सराफा बाजार तक चला और इस दौरान यातायात में बाधक अतिक्रमको हटाने के साथ ही नालियों पर बनी दुकानों और मकानों सीढिय़ां और दासों को भी तोड़ दिया गया। हालांकि इस दौरान हल्का-फुल्का विरोध भी हुआ लेकिन इसके बावजूद निगम का घन और बुलडोजर नहीं रुका। उल्लेखनीय है कि निगम द्वारा सुबह जब राममंदिर और नई सड़क क्षेत्र में कार्रवाई की गई तो अधिकतर दुकानें बंद थीं, जब दुकानदारों को इसकी जानकारी मिली तब तक निगम अमला तुड़ाई कर चुका था।
राममंदिर पर फूलवाले हटाए, दर्शनार्थी हुए परेशान
राममंदिर पर जब कार्रवाई की गई। उस दौरान यहां लोग सुबह पूजा-अर्चना के लिए आए हुए थे। इनमें महिलाएं भी थीं, इसी दौरान जब फूल वालों को यहां से हटाया गया तो उन दर्शनार्थियों को भी परेशानी हुई जो कि फूल- माला लेने यहां खड़े थे। वहीं भारी भीड़ के कारण लगे जाम से भी लोगों को परेशानी हुई। इस दौरान जिन दुकानदारों के यहां कार्रवाई की गई उनका आरोप था कि उन्हें इसकी कोई सूचना नहीं दी गई थी। नगर निगम को दुकानें खुलने का इंतजार तो करना चाहिए था। इस दौरान विभिन्न दुकानदारों से 20 हजार रुपए जुर्माने के रूप में वसूले गए। निगमायुक्त ने दुकानदारों से एक दिन में मलबा उठाने के लिए कहा, तथा चेतावनी दी कि यदि ऐसा नहीं किया तो प्रतिदिन एक हजार रूपए के हिसाब से जुर्माना वसूला जाएगा। कार्यवाही में मुख्य समन्वय अधिकारी प्रेमकुमार पचौरी, श्रीकांत कांटे, कीर्तिवर्धन मिश्रा, क्षेत्राधिकारी अरविंद चतुर्वेदी, महेन्द्र अग्रवाल आदि शामिल थे। दुकानों पर लगे
होर्डिग हटवाए
निगमायुक्त अनय द्विवेदी ने नई सड़क पर बाधित अतिक्रमण हटाने के साथ ही ऊंचे व्यावसायिक प्रतिष्ठानों पर कार्यवाही करते हुए शोरूम व दुकानों के ऊपर लगे हुए होर्डिंग हटवाए। हांलाकि कुछ दुकानदारों ने इस पर आपत्ति भी की लेकिन उनकी एक नहीं सुनी गई।
पहले चिन्हित अतिक्रमणों को छोड़ा
उल्लेखनीय है कि कुछ वर्ष पहले निगम ने शहर के विभिन्न क्षेत्रों में बड़े-बड़े अतिक्रमणों पर लाल निशान लगाए थे लेकिन उन्हें आज तक नहीं हटाया गया। इनमें फालकाबाजार क्षेेत्र में स्थित एक मिशनरी स्कूल और एक अन्य धर्माबलम्बियों का पूजा स्थल भी शामिल है। लेकिन आज जब इसी क्षेत्र मेें अतिक्रमण हटाए गए तो निगम एक बार फिर इन्हें भूल गया।

Updated : 2016-01-30T05:30:00+05:30
Next Story
Share it
Top