Home > Archived > पॉलीथिन की बिक्री पर प्रशासन ने कसा शिकंजा

पॉलीथिन की बिक्री पर प्रशासन ने कसा शिकंजा

शहर की दुकानों पर छापामार कार्यवाही शुरु

झांसी। पॉलीथिन पर प्रतिबंध लगाने के लिए शासन के निर्देश पर प्रदूषण विभाग व नगर निगम की संयुक्त टीम ने अभियान शुरु कर दिया है। इस अभियान में शहर की प्रत्येक दुकानों पर प्लास्टिक की पॉलीथिन को लेकर छापेमारी की जा रही है। पॉलीथिन की बिक्री करने वालों पर कार्यवाही भी की जाएगी। फिलहाल 21 जनवरी से अभियान शुरु कर दिया गया है। जिससे पॉलीथिन की बिक्री पर रोक लग सके। इस अभियान से शहर के समस्त व्यापारियों व दुकानदारों में पॉलीथिन की बिक्री पर अंकुश लगाने के लिए पहले से ही पॉलीथिन बंद कर दी है। हालांकि कुछ दुकानदारों के पास पॉलीथिन होने के बावजूद बिक्री पर प्रतिबंध लगा दिया। प्रदूषण विभाग व नगर निगम द्वारा शहर के बाजारों में प्लास्टिक पॉलीथिन की बिक्री पर प्रतिबंध लगाने के लिये छापामार कार्यवाही शुरु हो गई है। जबकि शासन के निर्देश हैं कि प्लास्टिक पॉलीथिन की बिक्री करने वालों पर कड़ी कार्यवाही की जाए। यह निर्देश जारी होते ही शहर के समस्त दुकानदारों ने पॉलीथिन को हटाना शुरु कर दिया। हालांकि कई दुकानदारों ने थैलों का प्रयोग शुरु कर दिया। लेकिन यह समस्या आम जनता के लिये मुश्किल हो गई है। क्योंकि रोजाना खाद्य सामग्री प्लास्टिक की पॉलीथिन में आया करती थी। लेकिन अब लोगों को सामान खरीदने के लिये थैले का प्रयोग करना पड़ेगा। तेल, घी, दूध, पनीर, मक्खन व अन्य तरल पदार्थ भी प्लास्टिक पॉलीथिन में दिये जाते थे। यहां तक की सब्जी, फल भी पॉलीथिन में आते थे। वैज्ञानिकों के अनुसार पॉलीथिन से पर्यावरण की स्थिति बिगड़ रही है। जिस कारण शहर का मानसून बिगड़ गया। पॉलीथिन के कारण किसानों को भी नुकसान भुगतना पड़ा। इस व्यवस्था पर सुधार लाने के लिए शासन ने कड़े निर्देशों के साथ पॉलीथिन पर प्रतिबंध लगा दिया। जिसके निर्देश पर सख्ती से अभियान शुरु हो गया। रोजाना प्लास्टिक पॉलीथिन के लिये छापामार कार्यवाही की जा रही है। साथ-साथ प्लास्टिक पॉलीथिन का कारोबार करने वालों पर भी कार्यवाही की जाएगी।

Updated : 2016-01-24T05:30:00+05:30
Next Story
Share it
Top