Home > Archived > आतंकवाद और बातचीत साथ-साथ नहीं : उमर

आतंकवाद और बातचीत साथ-साथ नहीं : उमर

नई दिल्ली। पंजाब के पठानकोट वायुसेना बेस पर हुए आतंकी हमले को लेकर जम्मू-कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला ने केन्द्र सरकार पर निशाना साधा है। साथ ही इसे केन्द्र की नरेन्द्र मोदी सरकार के लिए पहली बड़ी चुनौती बताया है। आतंकी हमले की निंदा करते हुए उमर अब्दुल्ला ने अपने ट्वीटर अकांउट पर लिखा कि भारत और पाकिस्तान के बीच आतंकवाद और बातचीत साथ-साथ नहीं चल सकते। हाल ही में लाहौर से लौटे प्रधानमंत्री मोदी पर निशाना साधते हुए जम्मू-कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री अब्दुल्ला ने कहा कि यह हमला मोदी सरकार की पाकिस्तान योजना के लिए पहली बड़ी चुनौती है। उन्होंने ट्वीटर पर लिखा कि भाजपा को पूर्व के अपने इस रूख से अलग हटना होगा तथा भारत-पाक वार्ता को ऐसे हमलों से बचाना होगा। उमर अब्दुल्ला ने विश्वास व्यक्त करते हुए कहा कि वायु सेना को विशेष रूप से निशाना बनाने के लिए जैश-ए-मोहम्मद के आतंकी कुछ घंटों पहले ही सीमा पार कर पहुंचे थे।

Updated : 2016-01-02T05:30:00+05:30
Next Story
Share it
Top