Home > Archived > बीयू में गड़बडिय़ों को लेकर राजभवन सख्त, रिटायर्ड जज को सौंपी जा सकती है जांच

बीयू में गड़बडिय़ों को लेकर राजभवन सख्त, रिटायर्ड जज को सौंपी जा सकती है जांच

भोपाल। बरकतउल्ला विश्वविद्यालय नियुक्तियों में गड़बड़ी व आर्थिक अनियमितताओं के मामले में उलझता जा रहा है। राजभवन ने विश्वविद्यालय के खिलाफ जांच कराने की तैयारी कर ली है। राज्य शासन ने इसकी अनुशंसा की थी। उच्च न्यायालय के किसी सेवानिवृत्त न्यायाधीश को यह जांच सौंपी जा सकती है। हाल ही में हुई कार्यपरिषद की बैठक में नियुक्तियों और अंतरराष्ट्रीय सम्मेलन की राशि को लेकर कुलपति और कार्यपरिषद सदस्य के बीच हुआ विवाद राजभवन पहुंच गया है। कार्यपरिषद सदस्यों ने राज्यपाल को विवि में चल रही गड़बडिय़ों के बारे में विस्तार से जानकारी दी है।
इन शिकायतों को देखते हुए राजभवन से विवि के खिलाफ जांच के आदेश जल्द ही जारी किए जा सकते हैं। उच्च शिक्षा विभाग पहले ही धारा 10 के तहत कुलपति के कार्यकाल की जांच कराने की अनुशंसा कर चुका है। इसके बाद राजभवन ने कुलपति से सभी मुद्दों पर स्पष्टीकरण मांगा था।
विवि के अधिकारियों के अनुसार कार्यपरिषद की बैठक में सदस्यों ने स्टेम सेल पर हुए अंतरराष्ट्रीय सम्मेलन के लिए विवि द्वारा जुटाए गए करीब 40 से 50 लाख रुपए का हिसाब किताब कुलपति से मांगा है। इसके लिए अलग से बैंक खाते खुलवाने का मामला भी विवादों में घिर गया है। बैठक के बाद इस मामले की शिकायत कार्यपरिषद सदस्यों ने कुलाधिपति से की है। कार्यपरिषद सदस्य हेमंत कटारे के अनुसार राजभवन को पहले ही ग्यारह बिंदुओं पर शिकायतें भेजी जा चुकी हैं। गड़बडिय़ों के मामले कार्यपरिषद की बैठक में भी उठाए गए हैं। इस मामले में कुलपति से अगली बैठक में जवाब प्रस्तुत करने को कहा गया है।

Updated : 2015-09-21T05:30:00+05:30
Next Story
Share it
Top