Top
Home > Archived > सोनिया ने सुषमा को बताया नाटकबाज, राहुल बोले- मेरी मां कभी ऐसा नहीं करतीं

सोनिया ने सुषमा को बताया नाटकबाज, राहुल बोले- मेरी मां कभी ऐसा नहीं करतीं

सोनिया ने सुषमा को बताया नाटकबाज, राहुल बोले- मेरी मां कभी ऐसा नहीं करतीं

नई दिल्ली। संसद में अपने 25 सांसदों के निलंबन के विरोध कांग्रेस चौथे दिन भी कांग्रेसी सांसद गांधी प्रतिमा के पास जमा हुए और सोनिया गांधी की अगुवाई में नारेबाजी की। कांग्रेस ने साफ कर दिया है कि वह सुषमा की सफाई के बाद भी ललितगेट मुद्दे को छोडने वाली नहीं है। इस मौके पर कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने विदेश मंत्री सुषमा स्वराज पर जमकर हमला बोला और ललित मोदी पर गुरूवार को लोकसभा में दिए गए उनके बयान को नाटकबाजी करार दिया।
सोनिया ने कहा, सुषमा स्वराज नाटक करने में माहिर हैं। बता दें कि गुरूवार को सुषमा ने लोकसभा में बयान देते हुए ललित मोदी की मदद को उनकी कैंसर पीडित पत्नी से जोडते हुए कहा था कि अगर सोनिया मेरी जगह होतीं तो क्या करतीं। जवाब में सोनिया ने कहा कि मैं उस महिला की मदद जरूर करती लेकिन कानून तोडकर नहीं।
दूसरी तरफ, कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने हमले के सिलसिले को बढाते हुए कहा कि जब भी चोरी होती है, चोर छुपकर आते हैं। सुषमा जी ने जो किया है, छुपकर किया है। मंत्रालय में किसी को पता नहीं था, उन्होंने क्या किया है! सुषमा जी को बताना चाहिए कि ललित मोदी ने खुद को जेल से निकलवाने के लिए उनके परिवार को कितना पैसा दिया। राहुल ने कहा, सुषमा जी ने अच्छा, लेकिन खोखला भाषण दिया। उन्होंने पूछा कि क्या सोनिया जी ऎसा करतीं! उनके बेटे के तौर पर मैं कह सकता हूं कि वह ऎसा कभी नहीं करतीं।
बता दें कि सुषमा ने गुरूवार को संसद में ललितगेट पर सफाई दी थी। उन्होंने ललित मोदी को यात्रा दस्तावेज देने की सिफारिश करने के आरोप से इनकार किया था। उन्होंने कहा था, मैंने फैसला ब्रिटिश सरकार पर छोड दिया था। वह भी इसलिए कि ललित मोदी की पत्नी 17 सालों से कैंसर से पीडित हैं और उनका कैंसर दसवीं बार उभरा है। मेरी जगह सोनिया जो होतीं, तो क्या करतीं! इस धरने में राहुल गांधी, लोकसभा में पार्टी के नेता मल्लिकार्जुन खडगे, गुलाम नबी आजाद और ज्योतिरादित्य सिंधिया समेत पार्टी के सभी बडे नेता शामिल हुए।
इससे पहले गुरूवार को कांग्रेस ने संसद भवन परिसर में गांधी प्रतिमा के सामने धरना दिया। धरने में कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी और उपाध्यक्ष राहुल गांधी भी शामिल हुए। कांग्रेस के धरने को समाजवादी पार्टी, राकांपा, राजद और जदयू का भी समर्थन मिला। यूथ कांग्रेस ने भी सांसदों के निलंबन के फैसले के खिलाफ शर्ट उतारकर प्रदर्शन किया। उधर, भाजपा ने कांग्रेस के धरने को तमाशा करार दिया। मॉनसून सत्र के 13 दिन बर्बाद हो चुके हैं और बचे हुए दिनों में काम होने की कोई उम्मीद नहीं है।

Updated : 2015-08-07T05:30:00+05:30
Next Story
Share it
Top