Top
Home > Archived > हंगामे के बीच संसद की कार्यवाही कल तक स्‍थगित

हंगामे के बीच संसद की कार्यवाही कल तक स्‍थगित

हंगामे के बीच संसद की कार्यवाही कल तक स्‍थगित
X

नई दिल्ली। संसद के मानसून सत्र के दूसरे दिन ललितगेट मुद्दे पर कांग्रेस नेता मल्लिकार्जुन खड़गे और वीरप्पा मोइली ने चर्चा के लिए कार्यस्थगन प्रस्ताव का नोटिस दिया जिसे लोकसभा स्पीकर सुमित्रा महाजन ने नामंजूर कर दिया। दोनों नेता इस मुद्दे पर लोकसभा में बहस चाहते थे। इसके बाद कांग्रेसी सांसद अपने साथ लाए पोस्टर हवा में लहराने लगे फिर सदन में सत्ता पक्ष के भाजपा सांसदों ने हंगामा शुरू कर दिया। इस पर स्पीकर सुमित्रा महाजन ने सदन की कार्यवाही 12 बजे तक के लिए स्थगित कर दी।
इससे पहले अन्य विपक्षी दलां का साथ नहीं मिलने पर संसद परिसर में गांधी मूर्ति के सामने धरना कार्यक्रम रद करने के बाद राहुल गांधी समेत सभी कांग्रेसी सांसद काली पट्टी बांधकर सदन पहुंचे।
12 बजे लोकसभा की कार्यवाही एक बार फिर शुरू हुई। स्पीकर ने हंगामा, पोस्टर लहराने और काली पट्टी बांधकर सदन में अाने पर अनुशासनात्मक कार्रवाई की चेतावनी दी। लेकिन इसके बावजूद कांग्रेस हंगामा करते रहे। इसके बाद स्पीकर ने दोपहर 2 बजे तक सदन की कार्यवाही स्थगित कर दी। सदन की कार्यवाही शुरू होने के बाद एक बार फिर विपक्षी सांसद हंगामा करते रहे। फिर स्पीकर ने लोकसभा की कार्यवाही कल तक के लिए स्थगित कर दी।
उधर, राज्यसभा में विपक्ष ने जोरदार हंगामा किया। कांग्रेस नेता गुलाम नबी आजाद ने सुषमा स्वराज, वसुंधरा राजे और शिवराज चौहान का इस्तीफा मांगा। इस पर सदन के नेता अरुण जेटली ने कहा कि हम अभी इस पर चर्चा के लिए तैयार हैं। लेकिन विपक्षी सांसद हंगामा करते रहे। इसके बाद उपसभापति पी जे कुरियन ने सदन की पहले सदन की कार्यवाही 15 मिनट के लिए स्थगित कर दी।
दोबारा कार्यवाही शुरू होने पर जेटली ने कहा कि मुद्दा केंद्र के अधीन नहीं है। उन्होंने सीपीएम नेता सीताराम येचुरी के बयान पर उन्हें चुनौती देते हुए कहा कि वे बताएं कि सुषमा स्वराज ने किस कानून का उल्लंघन किया? इस पर बसपा सुप्रीमो मायावती ने कहा कि व्यापम राष्ट्रीय मुद्दा है। केंद्र ललितगेट पर सुषमा और वसुंधरा पर कार्रवाई को तैयार नहीं है। पहले दोनों का इस्तीफा हो उसके बाद मुद्दे पर चर्चा होनी चाहिए। इस बीच हंगामा जारी रहा। उपसभापति ने सदन की कार्यवाही चौथी बार दो बजे तक के लिए स्थगित कर दी। दो बजे एक बार फिर हंगामे में बीच कांग्रेस नेता ने सुषमा मामले में कार्यस्थगन का नोटिस दिया। उन्होंने सरकार से तुरंत कार्रवाई की मांग की। इस बीच सत्तापक्ष व विपक्ष के बीच नारेबाजी चलती रही। हंगामा न थमता देख सदन की कार्यवाही कल तक के लिए स्थगित कर दी गई।

Updated : 2015-07-22T05:30:00+05:30
Next Story
Share it
Top