Top
Home > Archived > साहब मेरे पिता हैं असली शहरकाजी

साहब मेरे पिता हैं असली शहरकाजी

भिण्ड। भिण्ड में पिता हाजी अलीम को असली शहरकाजी बताने वाले सिराज उद्दीन ने कलेक्टर से शिकायत की है कि एक अन्य व्यक्ति खुद को शहरकाजी बताकर प्रचार कर रहा है। उसने ईद के मौके पर शहर की शांति व्यवस्था को भंग करने वालों पर कार्रवाई करने की मांग जिलाधीश को सौंपे ज्ञापन सौंपकर की है।
ज्ञापन में काजी हाजी अलीम उद्दीन ने कहा है कि मेरे पिता काजी जनाब सिराज उद्दीन निवासी ग्राम खितौली, गोहद संपूर्ण भिण्ड जिले के शहर काजी हैं, जो अपने पिता मरहूम शहर काजी जनाम शफी उद्दीन के इंतकाल के बाद से वारिस हैं। उनके परिवार में कजियात का काम सिंधिया रियासत काल से किया जा रहा है। लेकिन पिछले कुछ साल से इरफान काजी पुत्र मोहम्मद हबीव निवासी ग्राम बिठ्ठोना तहसील बाह जिला आगरा उ.प्र. हाल निवासी नयापुरा जामा मस्जिद के पास भिण्ड फर्जी तरीके से खुद को शहर काजी प्रचारित करता आ रहा है। हाल में इनके द्वारा भोपाल की किसी काजी कमेटी (निजी एनजीओ) से पत्र लिखवाकर समाचार पत्रों में खबर प्रकाशित कराई गई है कि इरफान नवी ही भिण्ड का शहर काजी है। नवी ने ईद के मौके पर शहर में शांति भंग करने के लिए यह काम किया है। पूर्व के वर्षों में भी यह ऐसा ही करते आ रहे हैं, जिससे त्योहार के मौके पर तनाव का माहौल बनता है। इस बार भी सह चाहते हैं कि शहर में तनाव रहे। उन्होंने जिलाधीश से अनुरोध किया है कि इसमें दखल देकर कार्रवाई करें, जिससे शहर में अमन-भाईचारा कायम रहे।

Updated : 2015-07-17T05:30:00+05:30
Next Story
Share it
Top