Home > Archived > देह व्यापार के लिए चर्चित है बजरिया मोहल्ला

देह व्यापार के लिए चर्चित है बजरिया मोहल्ला

*बेडिय़ा जाति की युवतियां करती हैं खुलेआम देह व्यापार *लड़कियों की खरीद-फरोख्त का भी होता है खुला व्यापार

शिवपुरी। पुरानी शिवपुरी का रेडलाइट एरिया देशभर में देह व्यापार के लिए चर्चित है। लगभग 100 वर्षों से यहां बेडिय़ा जाति की युवतियां देह व्यापार के पेशे में संलग्न हैं। बैराड़ क्षेत्र के डाबर का पुरा व टोरिया का पुरा गांव की यह युवतियां यहां देह व्यापार कर रही हैं।
एक जमाने में पुरानी शिवपुरी के रेड लाइट एरिया, जिसे बजरिया मोहल्ला भी कहा जाता है, में मुजरों की रौनक रहती थी, लेकिन अब यहां मुजरों के स्थान पर खुलेआम देह व्यापार होता है। इस अवैध कारोबार में सैकड़ों युवतियां संलग्न हैं। अनेक बार सामाजिक और प्रशासनिक मुहिम चलाकर इन युवतियों को देह व्यापार छोड़कर समाज की मुख्य धारा में लाने की पहल की गई, लेकिन परिणाम कुछ नहीं निकला। पुलिस की सख्ती का परिणाम भी शून्य ही रहा। विगत रविवार को पुलिस बल ने यहां संचालित कोठों पर औचक छापामार कार्रवाई कर तीन युवतियों और पांच पुरुषों को आपत्ति जनक हालत में पकड़ा था।
दुर्भाग्य की बात यह है कि बेडिय़ा जाति में एक तरह से देह व्यापार को सामाजिक मान्यता प्राप्त है। इस समाज में कुछ अविवाहित युवतियों को देह व्यापार में धकेल दिया जाता है, जो पूरे परिवार का भरण पोषण करती हैं। इस समाज के अधिकांश युवा अपनी बहनों पर आश्रित रहते हुए एक तरह से उनके बॉडीगार्ड का काम करते हैं। वहीं दूसरी ओर इस समाज में विवाहित युवतियां इस गलीज पेशे से दूर रहती हैं और घर में घूंघट के बीच खाने बनाने से लेकर बच्चों के पालन पोषण का कार्य करती हैं।
अरब देशों तक की शोभा बढ़ा चुकी बेडिय़ा समाज की यह युवतियां वर्तमान में देश के मुम्बई, मेरठ, दिल्ली, लखनऊ सहित अनेक महानगरों में देह व्यापार का कार्य कर रही हैं। पांच वर्ष पूर्व तक पुरानी शिवपुरी के बजरिया मोहल्ले में मुजरों की धूम हुआ करती थी और देह व्यापार से ये युवतियां परहेज करती थीं, लेकिन अब खुलेआम यहां देह व्यापार हो रहा है और अधेड़ महिलाएं इस व्यापार को संचालित कर रही हैं। अपने धंधे को चमकाने के लिए वह दूर-दूर से नाबालिग लड़कियों को लाकर इस गंदे पेशे में धकेल रहीं हैं। सुबह से लेकर देर रात तक यहां देह व्यापार का कारोबार खुलेआम होता है। इसमें बताया जाता है कि पुलिस का भी हिस्सा रहता है।

अनेक गुप्त बीमारियों से ग्रसित हैं वेश्याएं
रेडलाइट एरिया में देह व्यापार करने वाली युवतियां असुरक्षित यौन संबंध बनाती हैं। इस कारण अधिकांश युवतियां गुप्त बीमारियों से ग्रसित हैं और यौन संबंधों के दौरान वे अपने ग्राहकों को इन बीमारियों को संक्रमित कर देती हैं। इस कारण इस इलाके में प्राइवेट चिकित्सकों का धंधा भी खूब पनप रहा है। सूत्र बताते हैं कि कुछ वेश्याएं तो एड्स जैसी जानलेवा बीमारी से ग्रसित हैं, लेकिन प्रशासन और स्वास्थ्य विभाग लापरवाह बना हुआ है।
कोठों पर पुलिस का छापा, आठ गिरफ्तार
रेडलाइट एरिया में बड़े पैमाने पर देह व्यापार होने की शिकायत मिलने पर रविवार को पुलिस ने अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक आलोक सिंह के नेतृत्व में यहां मौजूद कोठों पर छापा मारा। लगभग सौ से अधिक पुलिस जवानों ने जब इलाके में घेराबंदी शुरू की तो भगदड़ मच गई। कई कोठों से ग्राहक बाहर निकलकर भागते नजर आए। पुलिस ने यहां से बेडिय़ा जाति की तीन युवतियों के साथ आपत्तिजनक स्थिति में आईटीबीपी के तीन जवान और दो दलालों को पकड़ा था। गिरफ्तार आईटीबीपी जवानों में विक्रम सिंह पुत्र कालीराम जाट, सोनू पुत्र जैकराम जाट, योगेश पुत्र ईश्रलाल शर्मा निवासी हरियाणा शामिल हैं। पुलिस ने इन सभी के खिलाफ पीटा एक्ट के तहत कार्रवाई की है।

Updated : 2015-06-09T05:30:00+05:30
Next Story
Share it
Top