Home > Archived > उत्तराखंड में मैगी पर बैन लगाने का फैसला

उत्तराखंड में मैगी पर बैन लगाने का फैसला


देहरादून | मैगी नूडल्स के नमूने प्रयोगशाला जांच में फेल हो जाने के बाद अन्य कई राज्यों की तरह उत्तराखंड में भी इसकी बिक्री पर प्रतिबंध लगाने का फैसला किया गया है। प्रदेश के प्रमुख सचिव ओम प्रकाश ने बताया कि मैगी नूडल्स के परीक्षण के वास्ते लिये गये 300 नमूनों में से दो नमूनों के जांच में फेल हो जाने के बाद कल देर रात खाद्य सुरक्षा विभाग ने जनहित में उसकी बिक्री पर प्रतिबंध लगाने का फैसला किया है।
उन्होंने बताया कि उधमसिंह नगर जिले के रूद्रपुर में की गयी प्रयोगशाला जांच के दौरान मैगी नूडल्स के नमूनों में मोनोसोडियम ग्लूटामेट की मौजूदगी पायी गयी जिसके बाद उसकी बिक्री पर प्रतिबंध लगाने का फैसला किया गया।
स्वास्थ्य सचिव ने कहा, ‘मामला जनता के स्वास्थ्य से जुड़ा होने के कारण हमने खाद्य पदार्थ पर तुरंत प्रतिबंध लगाने का फैसला लिया है। हालांकि, प्रतिबंध लगाने और बाजार से उत्पाद को तुरंत हटाये जाने के बारे में औपचारिक आदेश आज जारी होगा।’ ओमप्रकाश ने हालांकि कहा कि जांचे गये नमूनों में सीसा नहीं पाया गया है और रूद्रपुर प्रयोगशाला में भेजे गये 300 नमूनों में से ज्यादातर की रिपोर्ट अभी नहीं आयी है।
उन्होंने कहा कि प्रदेश के विभिन्न हिस्सों से एकत्रित किये गये मैगी नूडल्स के नमूनों की जांच रिपोर्ट आने के बाद उन्हें अंतिम जांच के लिये कोलकाता भेजा जायेगा। प्रमुख सचिव ने कहा कि शहर में स्थित बिग बाजार जैसे बड़े प्रतिष्ठानों ने अपने स्टोर्स से मैगी नूडल्स के पैकेट पहले ही हटा दिये हैं जबकि छोटे दुकानदारों को ऐसा करने में कुछ समय लगेगा।

Updated : 2015-06-04T05:30:00+05:30
Next Story
Share it
Top