Top
Home > Archived > सहयोग से छू सकते हैं नई ऊंचाईयां: प्रजापति

सहयोग से छू सकते हैं नई ऊंचाईयां: प्रजापति

ग्रामीण विकास कार्यों की समीक्षा के दौरान किया आह्वान

अशोकनगर | जिले को मुख्यमंत्री युवा उद्यमी योजना के लक्ष्य पूर्ति में अग्रणी स्थान प्राप्त होने पर प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह द्वारा जिले को सम्मान प्राप्त हुआ है। पशु चिकित्सा विभाग के लक्ष्यों को पूर्ण करने में भी जिला टॉप टेन की श्रेणी में आया है। मुख्यमंत्री आवास योजना में जिला आठवें स्थान पर है। ग्राम पंचायत सचिव एवं रोजगार सहायक कार्ययोजना तथा रणनीति बनाकर शासकीय योजनाओं क्रियान्वयन एवं कार्यों को करें। जिससे आदर्श ग्राम की परिकल्पना को साकार किया जा सके। इस आशय के निर्देश कलेक्टर आरबी प्रजापति द्वारा रविवार को माधव भवन में आयोजित जिले के समस्त ग्राम पंचायतों के सचिवों एवं रोजगार सहायकों की बैठक के दौरान व्यक्त किए। उन्होंने कहा कि सभी के सहयोग से ही नई उंचाईयों को छू सकते हैं। हम सभी का दायित्व है कि ऐसे प्रयास किए जाएं जिससे जिले में क्रियान्वित हो रहीं शासकीय योजनाओं एवं विकास कार्यों में हमेशा जिला अव्वल रहे। बैठक में मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत एमएल वर्मा, कार्यपालन यंत्री ग्रामीण यांत्रिकी सेवा व्हीके श्रीवास्तव, समस्त मुख्य कार्यपालन अधिकारी जनपद पंचायत, परियोजना अधिकारी जिला पंचायत, ग्राम पंचायतों के सचिव एवं रोजगार सहायक उपस्थित थे। बैठक में कलेक्टर श्री प्रजापति ने कहा कि त्रिस्तरीय पंचायती राज व्यवस्था के तहत ग्राम पंचायत सचिवों को काफी अधिकार प्राप्त हैं। ग्रामीण विकास विभाग सबसे महत्वपूर्ण विभाग है। यह विभाग जिले की कुल आबादी का 75 प्रतिशत आबादी का प्रतिनिधित्व करता है। ग्राम पंचायत सचिव अपने अधिकारों का सही उपयोग कर केन्द्र एवं राज्य शासन द्वारा संचालित जनहितैषी योजनाओं का क्रियान्वयन बेहतर ढंग से कराना सुनिश्चित करें। जिससे जिले के विकास को नई गति प्रदान की जा सके। साथ ही जिले को प्रत्येक योजना में अग्रणी लाने के लिए कार्य करें, यह तभी संभव है जब मैदानी अमला पूर्ण सजगता, गंभीरता, त्याग और समर्पण के साथ अच्छे मनोभाव से कार्य करे।
ग्रामीण विकास कार्यों पर जोर:
कलेक्टर श्री प्रजापति ने कहा कि शासन ग्रामीण विकास के कार्यों पर विशेष ध्यान दे रही है। ग्राम विकास के लिए ग्राम पंचायतों पर ज्यादा दारोमदार है इसलिए आवश्यक है कि ग्राम पंचायत क्षेत्र में बिना किसी भेदभाव एवं बिना दबाव के सभी से समन्वय स्थापित कर शासकीय योजनाओं के क्रियान्वयन में तेजी लाएं। उन्होंने कहा कि शासन द्वारा संचालित विभिन्न कल्याणकारी योजनाओं को अमलीजामा पहनाने के लिए निष्पक्ष होकर पूरी लगन, ईमानदारी एवं तत्परता के साथ कार्य करें।
आदर्श ग्राम पंचायतें बनाएं:
उन्होंने कहा कि ग्राम पंचायत सचिव एवं रोजगार सहायक अपने अपने ग्रामों में शासकीय कार्यक्रमों एवं योजनाओं को बेहतर तरीके से क्रियान्वित कराएं तथा पात्र हितग्राहियों को इन योजनाओं का लाभ दिलाने में अपनी महती भूमिका का निर्वहन करें। साथ ग्रामीण विकास के कार्यों को समग्र विकास की दिशा में अग्रसर कराने में अपने दायित्वों का निर्वहन करें। उन्होंने कहा कि ग्राम पंचायतें आदर्श बनेंगी तो जनपद पंचायतें आदर्श होंगी जिससे जिला आदर्श जिला बन सकेगा।
आपदा प्रबंधन पर हो विशेष ध्यान:
कलेक्टर ने कहा कि आगामी बरसात के मौसम को दृष्टिगत रखते हुए ग्रामीण क्षेत्र में अतिवर्षा एवं मौसमी बीमारियों पर विशेष ध्यान दिया जाए। तत्संबंधी जानकारी शीघ्र प्राप्त कर वरिष्ठ अधिकारी को अवगत कराया जाए। इस हेतु सूचना तंत्र को मजबूत किया जाए। जिससे किसी भी आपदा से समय पर निपटा जा सके। उन्होंने निर्देश दिए कि ग्राम पंचायत स्तर पर आपदा प्रबंधन संबंधी बैठकें आयोजित कराई जाकर कार्ययोजना तैयार की जाए।
बीमा योजनाओं का लक्ष्य 5 जुलाई तक पूर्ण कराएं:
कलेक्टर ने निर्देश दिए कि ग्राम पंचायत सचिव एवं रोजगार सहायक प्रधानमंत्री सुरक्षा बीमा योजना, प्रधानमंत्री जीवन ज्योति बीमा योजना तथा अटल पेंशन योजना के तहत पात्र लोगों जिनका बचत खाता बैंकों में संचालित हैं, उन सभी लोगों का बीमा कराया जाना सुनिश्चित करें। यह कार्य सभी सचिव एवं रोजगार सहायक अपने-अपने क्षेत्रों में लोगों से सम्पर्क कर घर-घर जाकर 5 जुलाई तक पूर्ण करायें। कलेक्टर ने मैदानी अमले द्वारा जिले में प्रधानमंत्री जन-धन योजनांतर्गत शत प्रतिशत खाते खुलवाये जाने हेतु किए गए कार्यों की सराहना की।

Updated : 2015-06-29T05:30:00+05:30
Next Story
Share it
Top