Top
Home > Archived > सिंगाजी बिजली संयंत्र उद्घाटन से पहले ठप

सिंगाजी बिजली संयंत्र उद्घाटन से पहले ठप

भोपाल। 10 दिन पहले चालू किया गया सिंगाजी बिजली संयंत्र फिर ठप हो गया है। 600 मेगावाट की यूनिट से 200 मेगावाट ही प्रोडक्शन हो रहा था, जो तकनीकी खराबी के चलते ठप हो गया। खास बात यह है कि इस बिजली संयंत्र का औपचारिक उद्घाटन एक मार्च को प्रधानमंत्री के हाथों होना था, लेकिन उनका कार्यक्रम फाइनल नहीं हुआ है।
यूनिट नंबर एक के बंद होने की वजह टरबाइन में खराबी बताई गई है, जबकि 600 मेगावाट की दूसरी यूनिट जनरेटर ट्रांसफार्मर जलने से बंद है। पावर जनरेशन कंपनी के एमडी विजेंद्र नानावटी के मुताबिक सुधार कार्य के लिए बीएचईएल से मदद मांगी गई है। बिजली संयंत्र 13 दिसंबर को तकनीकी कारणों से बंद हुआ था। 12 जनवरी को संयंत्र दोबारा चालू करने के दौरान यूनिट नंबर दो में लगा जनरेटिंग ट्रांसफार्मर में आग लग गई थी। इसे 12 फरवरी की शाम फिर चालू किया गया था।

एक साल में आई खराबी
व्यावसायिक उत्पादन शुरू करने के एक साल में ही संयंत्र में कई तकनीकी खामियां सामने आई हैं। यहां कोयले की खपत भी ज्यादा है। जनरेटर ट्रांसफार्मर भी एक साल में ही जवाब दे चुके हैं।
दूसरे संयंत्रों पर बढ़ा लोड
सिंगाजी बिजली संयंत्र बंद हो जाने से प्रदेश में 200 मेगावाट बिजली का उत्पादन प्रभावित हो रहा है। इससे बिरसिंहपुर, सतपुड़ा और अमरकंटक पावर हाउस पर अतिरिक्त उत्पादन का बोझ बढ़ गया है। क्षमता से ज्यादा लोड पडऩे से पिछले माह अमरकंटक बिजली संयंत्र की एक यूनिट जल चुकी है। 

Updated : 2015-02-23T05:30:00+05:30
Next Story
Share it
Top