Home > Archived > आधा सैकड़ा से अधिक बकाएदारों की दुकानें सील

आधा सैकड़ा से अधिक बकाएदारों की दुकानें सील

शिवपुरी। 163 दुकानदारों पर लगभग ढाई करोड़ रुपए प्रीमियम और किराए की राशि की वसूली की अंतिम तिथि 15 फरवरी समाप्त हो चुकी है। इसी के साथ नगर पालिका ने आज पुलिस बल की मदद से बकाएदारों की दुकानों को सील करना शुरू कर दिया है। तांगा स्टैण्ड मार्केट में शेर खान की दुकान सहित पांच दुकानें, सावरकर पार्क में स्थित सलीम खान की कृष्णा सोलर एनर्जी के नाम से दुकान, रंजीत चौधरी, नीरज शर्मा पुत्र रामसेवक शर्मा, रामस्वरूप पुत्र करण सिंह, लखन रघुवंशी, नीतेश शर्मा पुत्र रामस्वरूप, ममता पत्नी राजकुमार तोमर और रघुवीर आदिवासी सहित लगभग 68 दुकानें सील कर दीं हैं।
जिन दुकानों पर ताले लटके थे, उन्हें नपा प्रशासन ने मयताले के सील लगा दिया है, जबकि जो दुकानें खुली थीं उन पर नए ताले लगाकर सील किया गया है। प्रशासनिक दल में मुख्य नगर पालिका अधिकारी कमलेश शर्मा, राजस्व अधिकारी सौरभ गौड़, नायब तहसीलदार और पुलिस बल मौजूद था। कार्रवाई के दौरान अमले को कहीं भी प्रतिरोध का सामना नहीं करना पड़ा। तांगा स्टैण्ड स्थित कोरियर की दुकान के संचालक ने तुरंत 3 लाख 60 हजार रुपए का चेक देकर तालाबंदी से मुक्ति पा ली। मुख्य नगर पालिका अधिकारी ने बताया कि लगभग 100 बकाएदारों की दुकानों को सील किया जाएगा।
बुधवार से ही पुलिस बल की मदद से बकाएदारों की दुकानों में तालाबंदी करना थी, लेकिन पुलिस बल न मिलने से यह प्रक्रिया बुधवार को शुरू नहीं हो सकी। गुरुवार को भी पुलिस बल के लिए नपा प्रशासन भटकता हुआ नजर आया। राजस्व अधिकारी सौरभ गौड़ दो घण्टे से भी अधिक समय से पुलिस नियंत्रण कक्ष में दल-बल सहित जमे रहे। उसके बाद उन्हें पुलिस बल उपलब्ध कराया गया। 163 दुकानदारों में से अभी तक ढाई करोड़ से अधिक राशि में से महज 50 लाख की ही वसूली हो पाई है। जिन बकाएदारों से राशि वसूल की जाना है, उनमें कई प्रभावशाली लोग, नेता और नगर पालिका कर्मचारियों के परिजन शामिल हैं। आरोप है कि इन बकाएदारों ने प्रीमियम राशि जमा नहीं की और यहां तक कि किराया भी जमा नहीं किया। इसके बाद भी उन्होंने दुकानों पर कब्जा ले लिया और कारोबार निरंतर जारी है।

पुलिस ने भी किया था नपा की दुकान पर कब्जा

बताया गया है कि नगर पालिका द्वारा नीलगर चौराहा स्थित नवीन मार्केट में पुलिस विभाग ने भी नपा की एक दुकान पर अपनी वीट मुख्यालय पुलिस थाना देहात के नाम से ऑफिस बना रखा है। इसको भी नगर पालिका सीएमओ कमलेश शर्मा ने आज ताला लगाकर सील कर दिया। इस दुकान को सील करते समय स्थानीय लोग यह कहते सुने गए कि जब पुलिस ही कब्जा करेगी तो आम जनता क्यों नहीं।
बगैर नीलामी के नपा की दुकानों पर किया कब्जा
बताया गया है कि नीलगर चौराहा स्थित मार्केट में दुकानदारों ने नपा की दुकानों के ताले व शटर खोलकर कब्जा कर लिया। जब इस बात की भनक आज सीएमओ कमलेश शर्मा को लगी तो उन्होंने सबसे पहले उक्त दुकानों को कब्जामुक्त कराकर उनमें ताले लगवाए। इस कार्रवाई के दौरान लगभग 40 दुकानों को नपा ने अपने कब्जे में लिया।
तीन घण्टे में लगभग आधा करोड़ की वसूली
नपा प्रशासन द्वारा सख्त रवैया अपनाते हुए लगभग एक सैकड़ा दुकानों को निशाना बनाते हुए सील करना प्रारंभ किया गया, जिससे लोगों में हड़कम्प जैसी स्थिति निर्मित हो गई और बड़े व रसूखदार व्यापारी और जनप्रतिनिधियों ने अपनी इमेज बचाने के एवज में अपनी दुकानों की बकाया राशि तत्काल जमा
कराना प्रारंभ कर दी, जिससे नपा प्रशासन को आज लगभग आधा करोड़ रुपए की आय प्राप्त हुई हैं। 

Updated : 2015-02-20T05:30:00+05:30
Next Story
Share it
Top