Home > Archived > आपको नसीबवाला चाहिए या बदनसीब: मोदी

आपको नसीबवाला चाहिए या बदनसीब: मोदी

आपको नसीबवाला चाहिए या बदनसीब: मोदी
X


नई दिल्ली। दिल्ली विधानसभा चुनाव के लिए सभी दलों ने चुनाव प्रचार में पूरी ताकत झोंक दी है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने द्वारका के डीडीए मैदान में एक रैली को संबोधित करते हुए आम आदमी पार्टी और कांग्रेस पर जमकर हमला बोला। रैली में मोदी ने खुद को असली द्वारका वाला बताया। मोदी ने कहा वह असली द्वारका वाले हैं।
मोदी ने कांग्रेस और ‘आप’ पर निशाना साधते हुए कहा कि दिल्ली में दो पार्टियां बीजेपी के खिलाफ चुनाव लड़ रहे हैं। जो सरकार बनाने के लिए पर्दे के पीछे से सांठगांठ करते हैं। मोदी ने कहा कि दोनों दलों में मीडिया में जगह बनाने के लिए प्रतिस्पर्धा चल रही है। दोनों दल बीजेपी पर झूठे आरोप लगाकर सनसनी फैलाकर मीडिया में जगह बनाना चाहते हैं। केजरीवाल पर निशाना साधते हुए मोदी ने कहा कि भागने से काम नहीं चलता है। सरकार चलाना भी जिम्मेदारी का काम होता है। इसलिए इसबार दिल्ली को जिम्मेवार और संवेदनशील सरकार के लिए बीजेपी को वोट दें। कांग्रेस पर निशाना साधते हुए मोदी ने कहा कि दिल्ली में पानी की समस्या का हल बीजेपी ने किया। जब हरियाणा और दिल्ली में कांग्रेस की सरकार थी तब कांग्रेस ने दिल्ली के पानी की समस्या को हल क्यों नहीं किया। मोदी ने कहा कि हमने दिल्लीवासियों से लोकसभा चुनाव में हरियाणा से दिल्ली को पानी दिलाने का वायदा किया था, वो पूरा किया। अब दिल्लीवालों को हरियाणा से पानी मिल रहा है।
मोदी ने कहा कि अगर उनके नसीब से पेट्रोल और डीजल के दाम कम हुए तो फिर जनता को बदनसीब क्यों चाहिए? मोदी ने रैली में लोगों से पूछा, "क्या डीजल और पेट्रोल के दाम कम हुए हैं कि नहीं?, क्या आपकी जेब में पैसा बचने लगा की नहीं?। मोदी ने कहा कि हमारे विरोधी कहते हैं कि क्योंकि मोदी नसीबबाला है, इसलिए पेट्रोल-डीजल के दाम कम हो गए तो भाई अगर मोदी का नसीब देश की जनता के काम आता है तो इससे अच्छे नसीब की बात और क्या हो सकती? आपको नसीब वाला चाहिए या बदनसीब? मोदी ने कहा कि जिसे देश की नीति मालूम होती है उसके लिए विदेश नीति में दिक्कत नहीं होती। मोदी ने कहा कि जब वो देश से बाहर जाते हैं तो मोदी के नाम से नहीं मिलते बल्कि सवा सौ करोड़ देशवासी के प्रतिनिधि के तौर पर मिलते हैं। मोदी ने कहा दिल्ली को पूर्णबहुमत की सरकार की जरूरत है तभी दिल्ली का विकास हो सकता है। दिल्ली को आगे बढ़ाना है तो पूर्ण बहुमत वाली सरकार बनाना जरूरी है।

Updated : 2015-02-01T05:30:00+05:30
Next Story
Share it
Top