Top
Home > Archived > दूर होंगी ई पंजीयन व ई स्टाम्पिंग की खामियां

दूर होंगी ई पंजीयन व ई स्टाम्पिंग की खामियां

भोपाल। ई-पंजीयन और ई-स्टापिंग व्यवस्था की खामियों को दूर करने का काम 9 करोड़ रूपये में विप्रो को सौंपा गया है। जिससे साफ्टवेयर में बग आदि की समस्याओं का समाधान शीघ्र किया जा सके। यह जानकारी आज राज्य विधानसभा में विधायक चेतन्य कुमार कश्यप को वाणिज्यिक कर मंत्री जयंत मलैया ने दी।
श्री कश्यप ने ध्यानाकर्षण सूचना के माध्यम से ई-पंजीयन और ई-स्टापिंग व्यवस्था का सुचारू रूप से संचालन नहीं हो पाने और उससे लोगों को हो रही परेशानियों का मामला उठाया था। उन्होंने कहा था कि साख सीमा में रोजाना किसी न किसी प्रदाता के खाते से अचानक राशि कम हो जाना, स्टॉम्प की राशि कट जाने पर भी प्रिटिंग न होना, बैंक से राशि ट्रांसफर करने तथा चालान जनरेट हो जाने पर भी साख सीमा में राशि नहीं आने, कम्प्युटर प्रोग्रामिंग की गलतियों और इंटरनेट की लो-फ्रीक्वेंसी के कारण समस्याएं हो रही हैं। उन्होंने रतलाम के सेवाप्रदाताओं गोपाल मंत्री, लोकेश जैन, अमित राठौर, वीरेन्द्र पीतलिया, संतोष भरगट, रेखा भरगट, महेन्द्र शर्मा, अमित शर्मा, नीलेश गांधी और सौरभ गांधी आदि की शिकायतों का उल्लेख करते हुए वाणिज्यिक कर मंत्री से हो रही परेशानियों का शीघ्र समाधान निकालने का आग्रह भी किया था। श्री मलैया ने अपने जवाब में बताया कि रतलाम से 27 शिकायतें प्रतिवेदित हुई थीं। इन सभी का समाधान कर दिया गया है। जब श्री कश्यप ने उनका ध्यान रेखा भरगट, नीलेश गांधी और वीरेन्द्र पीतलिया की समस्याओं की तरफ दिलाया तो मंत्री जी ने कहा कि उनका भी समाधान हो गया है।
श्री कश्यप ने रतलाम में कार्यालय ऊपरी मंजिल पर होने से वृद्धों और विकलांगों को हो रही परेशानियों का उल्लेख करते हुए कहा कि पहले अधिकारी नीचे आकर उनके पंजीयन का काम कर देते थे परन्तु ई-पंजीयन में ऐसा नहीं हो पा रहा है। प्रदेश में अन्य जगहों पर भी वृद्धों और विकलांगों को इसी तरह की परेशानियों से जूझना पड़ रहा है। मंत्रीजी ने कहा कि उनकी समस्यायें भी दूर कर दी जायेंगी। मलैया ने अपने जवाब में कहा कि जनहित को दृष्टिगत रखते हुए 1 अगस्त 2015 से यह व्यवस्था प्रदेश में लागू की गई है । यह यूजर फ्रेण्डली है और इससे भ्रष्टाचार को भी समाप्त किया जा सकेगा। संपदा के तहत अब तक लगभग 4200 शिकायतें आई थीं जिनमें से तकरीबन 3100 का तत्काल निराकरण कर दिया गया है।
इस व्यवस्था से अब तक 1 लाख 98 हजार 376 दस्तावेजों का ई-पंजीयन हो चुका है। रोजाना तकरीबन दो हजार दस्तावेजों का पंजीयन हो रहा है। ई-पंजीयन और ई-स्टापिंग से शासन को अब तक 895 करोड़ 37 लाख रुपए का राजस्व प्राप्त हो चुका है। इससे शासन को हानि नहीं हो रही है।
विधान सभा कार्य मंत्रणा समिति की बैठक संपन्न
मध्यप्रदेश विधान सभा की कार्यमंत्रणा समिति की बैठक आज विधान सभा अध्यलक्ष डॉ. सीतासरन शर्मा की अध्यक्षता में संपन्न हुई जिसमें सदन में प्रस्तुत किये जाने वाले शासकीय विधेयकों और अन्य विषयों के सम्बंध में विचार-विमर्श कर चर्चा के लिये समय निर्धारित किया गया। बैठक में विधान सभा उपाध्यधक्ष डॉ. राजेन्द्रम कुमार सिंह, संसदीय कार्यमंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्र, वित्त मंत्री जयंत मलैया, पंचायत एवं ग्रामीण विकास मंत्री गोपाल भार्गव, उपनेता प्रतिपक्ष बाला बच्चन, सुन्दंरलाल तिवारी, केदारनाथ शुक्ल तथा रामनिवास रावत उपथित थे।

Updated : 2015-12-15T05:30:00+05:30
Next Story
Share it
Top