Top
Home > Archived > सांसद के सामान का पता नहीं लगा सकी जीआरपी

सांसद के सामान का पता नहीं लगा सकी जीआरपी

ग्वालियर। ट्रैन से सफर कर रहे महाराष्ट्र अकोला के सांसद का बैग चोरी हुए लगभग एक माह का समय गुजर गया है। लेकिन जीआरपी आज तक इस चोरी का कोई सुराग नहीं लगा सकी है। इससे जीआरपी की कार्यप्रणाली पर प्रश्न चिन्ह खड़ा हो गया है।
उल्लेखनीय है कि रेलगाडिय़ों के ऐसी कोच से चोरी और लूट की कई घटनाएं पिछले कुछ समय में हुई हैं। हालांकि इनमें से कुछ मामले तो जीआरपी ने सुलझा लिए तो वहीं कुछ मामलों का ठीकरा शातिर चोर आश्विनी के मत्थे मड़ दिया है। लेकिन जब अकोला के सांसद का समाना चोरी हुआ था, उस समय अश्विनी पुलिस की गिरफ्त में था। जिसकी पड़ताल जीआरपी आज तक नहीं कर सकी। जीआरपी का कहना है कि मामले की जांच पड़ताल की जा रही है और झांसी से लेकर बीना , ललितपुर तक जांच की जा चुकी है।
उधर एक अन्य घटना में भिण्ड से ग्वालियर आ रहे एक यात्री के छह लाख रुपए कीमत के जेवर चोरी हुए भी पन्द्रह दिन बीत चुके हैं। लेकिन कोई सुराग नहीं लग सका। हाल ही में भोपाल में एक ट्रेन से एक यात्री का लाखों का सामान चोरी हुआ है। उस चोरी का सुराग लगाने के लिए जीआरपी एड़ी चोटी का जोर लगा रही है। जिसमें जीआरपी के जवान भोपाल से लेकर दिल्ली, लखनऊ, जबलपुर, मुम्बई सहित कई स्थानों पर डेरा डाले हुए हैं। संभावना जताई जा रही है कि यदि ट्रेनों में चोरी करने वाला गैंग पकड़ा जाता है तो उसमें सांसद के सामान का भी पता लग जाएगा कि किसने इस वारदात को अंजाम दिया है।

Updated : 2015-12-14T05:30:00+05:30
Next Story
Share it
Top