Home > Archived > आप भी वसूल सकते हैं रेलवे से जुर्माना

आप भी वसूल सकते हैं रेलवे से जुर्माना

ग्वालियर। ऐसा नहीं है कि रेलगाड़ी से यात्रा के दौरान या प्लेटफार्म पर गंदगी फैलाने पर अथवा किसी और कारण वश रेलवे आपसे जुर्माना वसूल कर सकती है। यात्री भी असुविधा होने पर रेलवे से जुमार्ना वसूल कर सकते हैं और रेलवे को जुर्माना देना पड़ेगा। आपने देखा होगा कि यात्री सामान्य टिकट पर स्लीपर कोच में सवार होता है तो टीसी उससे स्लीपर का जुर्माना वसूल करता है या फिर बीड़ी-सिगरेट या गंदगी फैलाते हुए पाए जाते हैं तो रेलवे यात्रियों से जुर्माना वसूल करता है, लेकिन यदि रेलगाड़ी में यात्रा के दौरान आपको असुविधा होती है तो रेलवे से आप उपभोक्ता फोरम की मदद से मुआवजे की मांग कर सकते हैं।
यात्रा के दौरान आती हैं परेशानियां
यदि आप अपने टिकट पर उसी कक्षा में यात्रा करते हैं और आपके कोच या शौचालय में गंदगी या फिर आरिक्षत टिकट पर कन्फर्म होने पर बर्थ उपलब्ध नहीं होती है अथवा शौचालय की चटकनी खराब होने से आपको दैनिक क्रिया में परेशानी आती है तो आप उपभोक्ता फोरम में रेलवे को चुनौती दे सकते हैं।
रेलवे वसूलती है सुविधा शुल्क
रेलवे जब आपको आरक्षित टिकट देती है तो उसमें आपसे सुविधा शुल्क के नाम पर पैसा वसूल किया जाता है। जब आप किसी सुविधा के लिए पैसों का भुगतान कर देते हैं तो उस विभाग का दायित्व बनता है कि वह आपको सुविधा उपलब्ध कराए, जिसका सुविधा शुल्क लिया जा चुका है।
डेढ़ लाख का जुर्माना चुकाना पड़ा रेलवे को
हाल ही में छतीसगढ़ एक्सप्रेस में स्लीपर कोच में यात्रा कर रहे यात्री के दैनिक क्रिया के दौरान किसी अन्य यात्री ने दरवाजा खोल दिया। इस पर उसने उपभोक्ता फोरम में डेढ़ लाख रुपए का दावा किया था। जिस पर फोरम ने फैसला सुनाते हुए रेलवे को डेढ़ लाख रुपए जुर्माना एवं दस हजार रुपए अधिवक्ता का खर्चा देने का आदेश सुनाया था।

Updated : 2015-11-30T05:30:00+05:30
Next Story
Share it
Top