Home > Archived > प्रवासी भारतीयों को दी कानून व अधिकारों की जानकारी

प्रवासी भारतीयों को दी कानून व अधिकारों की जानकारी

दुबई में आरटीआई पर संगोष्ठी आयोजित


भोपाल| मप्र राज्य सूचना आयोग ने पहली बार प्रवासी भारतीयों के बीच पहुंचकर सूचना के अधिकार के प्रति जागरूकता बढ़ाने की कवायद की। विश्व के प्रमुख व्यापार, वाणिज्य व पर्यटन केंद्र दुबई में प्रवासी भारतीय नागरिकों की ओर से सूचना का अधिकार पर संगोष्ठी आयोजित की गई, जिसे राज्य सूचना आयुक्त आत्मदीप ने संबोधित किया।
सूचना आयुक्त ने संयुक्त अरब अमीरात यूएई में व्यापार, वाणिज्य व सेवा क्षेत्र से जुड़े प्रवासी भारतीयों को सूचना के अधिकार के संबंध में विभिन्न देशों के कानूनों के बारे में जानकारी दी। साथ ही उन्हें भारत के सूचना का अधिकार अधिनियम के मुख्य प्रावधानों से अवगत कराया। उन्हें बताया कि वे किस प्रकार यूएई में रहते हुए ही भारत में अपने गृह राज्यों एवं मूल स्थानों के संबंध में सूचना के अधिकार अधिनियम का सदुपयोग कर हालात को बेेहतर बनाने में भूमिका निभा सकते हैं।
साथ ही किस तरह जानने के हक का इस्तेमाल कर सार्वजनिक क्रियाकलाप में भ्रष्टाचार, अनियमितताओं व लेटलतीफी पर अंकुश लगाने, स्वीकृत कार्यों की गुणवत्ता सुनिश्चित करने, कार्य नियत समय सीमा में पूरे करने आदि में सहायक बन सकते हैं। गत रविवार को दुबई के कामथ होटल में हुई संगोष्ठी में यूएई में कार्यरत 60 से अधिक प्रवासी भारतीयों ने सूचना के अधिकार के संबंध में अनेक जिज्ञासाएं सामने रखीं और कई सवाल पूछे, जिनका सूचना आयुक्त आत्मदीप ने समाधान किया। साथ ही प्रवासी भारतीयों को सूचना आयोग की कार्यप्रणाली देखने, समझने के लिए भोपाल आमंत्रित किया।
यूएई की राजधानी अबूधाबी में भी प्रवासी भारतीयों से जानने के अधिकार पर परिचर्चा कर सूचना आयुक्त भोपाल लौट आए हैं। संगोष्ठी में शामिल प्रवासी भारतीयों में अली अजगर भाई ठेकावाला, आलोक चैबीसा, शब्बीर भाई दादा, शब्बीर भाई रसीद, अली अजगर, जिम्मी श्रृंगी, निधि श्रृंगी, रिकी, संतोष चैबीसा, जुबेर भाई ठेकावाला, इकबाल सेवा, मोहम्मद असगर भाई, शब्बीर भाई मास्टर, जोएब भाई, अली अकबर, फखरूद्दीन जरीवाला आदि शामिल हुए।

Updated : 2015-11-25T05:30:00+05:30
Next Story
Share it
Top