Top
Home > Archived > दिखने लगा कम वर्षा का असर, जलापूर्ति बाधित

दिखने लगा कम वर्षा का असर, जलापूर्ति बाधित

कई मोहल्लों के नागरिक हैंडपंप के भरोसे, कई खराब

झांसी। पानी के अभाव के मौसम की बात की जाए तो यह बात सर्वदा सत्य है कि गर्मी के मौसम में पानी की किल्लत पैदा होती है, लेकिन इसे दुर्भाग्य ही कहा जाएगा कि झांसी में सर्दियों के मौसम में भी इस प्रकार की भीषण समस्या का प्रादुर्भाव हुआ है। शहर के नागरिक इस समस्या को कम वर्षा से उत्पन्न हुई स्थिति मान रहे हैं। कम बारिश का असर अभी से दिखाई पडऩे लगा है। नगर के कई मोहल्ले में जलापूर्ति बाधित हो रही है। अनियमित पेयजल आपूर्ति के चलते लोगों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। इसके अतिरिक्त नगर क्षेत्र में सैकड़ों हैंडपम्प पानी देने की स्थिति में नहीं हैं।
देखा जाए तो झांसी महानगर क्षेत्र की आबादी साढ़े छह लाख से अधिक है। वहीं, नगर क्षेत्र की आधी आबादी पीने के पानी के लिए भूजल पर निर्भर है। कुछ संपन्न लोग अपनी निजी व्यवस्था करके पानी का उपयोग करते हैं तथा एक तिहाई से अधिक लोग सरकारी हैंडपंप पर निर्भर हैं। इसके अलावा यहां की जनता को पीने के पानी की व्यवस्था बेतवा नदी पर माताटीला में बने बांध से की जाती है। वैसे भी अक्सर देखा गया है कि झांसी में गर्मी के महीनों में पेयजल व्यवस्था चरमराने लगती है। ऊंचाई वाले क्षेत्रों में जलसंस्थान की व्यवस्था लडख़ड़ा जाती है। इस वर्ष तो कुदरत ने ही मुंह मोड़ लिया है। काफी कम बरिश होने से सर्दी में ही इस समय समस्या बलवती होने लगी है।
नगर के नई बस्ती, गंदी का टपरा, लक्ष्मी गेट, बंगलाघाट, बड़ाबाजार,खटकियाना, दतियागेट व तलैया क्षेत्र में अभी से पानी की समस्या दिखाई पडऩे लगी है। नल भी कभी कभार साथ छोड़ देते हैं। वहीं, लगाये गये सरकारी हैंडपंप भी अभी से जवाब देने लगे हैं। इसके अतिरिक्त एक सैकड़ा से अधिक हैंडपंप खराब स्थिति में पड़े हैं। वहीं, देखा गया है कि जल संस्थान ने सरकारी हैंडपंपों पर नंबरिंग तो कर दी है पर उसको ठीक कराने के लिए कोई पहल नहीं की है। लोगों का कहना है कि अगर सर्दी के महीने में यह हाल है तो गर्मी में हालात क्या होंगे। वैसे भी बेतवा प्रखंड सिंचाई विभाग के अधिशासी अभियंता ने काफी पहले ही सचेत कर दिया है कि बांध में पीनी सीमित है। दूसरी ओर जलसंस्थान के सहायक अभियंता राधेश्याम का कहना है कि पेयजल सप्लाई के लिए विभाग पूरी तरह से तैयार है। गर्मी में लोगों को पानी के लिये परेशान न होना पड़े इसके लिए तैयारियां शुरू कर दी गई हैं। जहां नलों में पानी नहीं पहुंच पाता है वहां पर टैंकरों से पानी पहुंचाया जाएगा। उन्होंने कहा कि वर्तमान में किन स्थानों पर पानी की समस्या आ रही है इसकी जानकारी नहीं है। अगर समस्या है तो स्थाई निदान का प्रयास किया जाएगा। उन्होंने कहा कि जलसंस्थान के कर्मचारियों को निर्देश दिया गया है कि शहर क्षेत्र में लगाये गये सरकारी हैंडपंपों की स्थिति का जयजा लिया जाए। जो हैंडपंप थोड़े बहुत खराब हैं उन्हें तत्काल सही कराया जाए। इनकी स्थिति अधिक दयनीय वहां पर रिबोर कराया जाए। उन्होंने कहा कि किसी भी दशा में पानी के लिए लोगों को परेशान नहीं होने दिया जाएगा।

Updated : 2015-11-25T05:30:00+05:30
Next Story
Share it
Top