Top
Home > Archived > हत्या कर हाईवे पर फेंके चाचा-भतीजे के शव

हत्या कर हाईवे पर फेंके चाचा-भतीजे के शव

शिवपुरी। तेंदुआ थाना क्षेत्र में बीती रात पल्सर मोटरसाइकिल पर सवार चाचा-भतीजे की टाटा इंडिका कार से टक्कर मारकर हत्या कर दी गई। पुलिस सूत्रों के अनुसार हत्या खरई से चार किमी दूर देहरोद व बम्हारी के बीच की गई और उनकी लाश फोरलेन पर डाल दी गई। इस सनसनीखेज घटना को आरोपियों ने दुर्घटना का रूप दिया। लेकिन मृतक करण सिंह पुत्र रायसिंह रावत व उनके भतीजे संजय पुत्र रामेश्वर रावत के शरीर पर मिले चोटों के निशानों ने आरोपियों की पोल खोल दी। हत्या किसने की यह पता नहीं चल सका है, लेकिन सूत्र बताते हैं कि पुरानी या राजनैतिक रंजिशवश इस वारदात को अंजाम दिया गया है।
पुलिस सूत्रों के अनुसार कल रात करण सिंह और संजय पल्सर मोटरसाइकिल से खरई से देहरोद जा रहे थे। बम्हारी गांव के नजदीक उनकी मोटरसाइकिल में कार में सवार आरोपियों ने टक्कर मार दी जिससे वे गिर गए इसके बाद आरोपियों ने उनकी लाठियों से पिटाई की और कार चढ़ाकर उनकी हत्या कर दी। इसके बाद बताया
जाता है कि आरोपी दोनों चाचा भतीजे को कार में लादकर ले गए और उनकी मोटरसाइकिल वहीं छोड़ गए बाद में चाचा-भतीजे की लाश फोरलेन पर डाल दी गई। इस वारदात से इलाके में सनसनी फैल गई।
घटना की सूचना मिलने पर एसडीओपी कोलारस श्री छारी व टीआई हरवीर सिंह रघुवंशी घटनास्थल पर पहुंच गए। श्री छारी ने बताया कि इस मामले में (संदिग्ध मौत) प्रकरण कायम किया जा रहा है। लेकिन स्पष्ट रूप से यह हत्या का मामला है। टीआई श्री रघुवंशी के अनुसार भी यह हत्या का मामला है, लेकिन हत्या किस मकसद से की यह स्पष्ट नहीं है।
हत्या के उद्देश्य पर बना संशय
पुलिस सूत्रों के अनुसार हत्या की वारदात पुरानी रंजिश या राजनैतिक द्वेषवश हो सकती है। वहीं इलाके के लोग दबी जुबान से कई अन्य बातें भी कह रहे हैं। बताया जाता है कि कल दोनों चाचा-भतीजे साथ-साथ देखे गए थे। कल वे खरई में मध्यभारत ग्रामीण बैंक से 30 हजार रु. निकालकर भी लाए थे। उस समय भी उनके पास पल्सर मोटरसाइकिल थी। इसलिए चर्चा यह भी है कि शायद लूट के उद्देश्य से यह हत्या की गई है। वहीं दूसरी ओर यह भी बताया जा रहा है कि मृतक करण सिंह ने किसी विवाहित महिला को रख लिया था, उसके पति की भी हत्या हो गई थी। इस कारण भी घटना हो सकती है।

Updated : 2014-08-28T05:30:00+05:30
Next Story
Share it
Top