Top
Home > Archived > हंगामे की भेंट चढ़ा लोक सभा का पहला दिन, कल तक स्थगित

हंगामे की भेंट चढ़ा लोक सभा का पहला दिन, कल तक स्थगित

हंगामे की भेंट चढ़ा लोक सभा का पहला दिन, कल तक स्थगित

नई दिल्ली | संसद के बजट सत्र का पहला दिन महंगाई मुद्दे की भेंट चढ़ गया। दोपहर 2 बजे सदन की कार्यवाही शुरू होने पर भी हंगामा जारी रहा और अध्यक्ष ने 10 मिनट बाद सदन की बैठक लोकसभा दिनभर के लिए स्थगित कर दी। महंगाई काबू करने और बढ़े रेल किराये को वापस लेने की विपक्ष की मांग पर नरेन्द्र मोदी सरकार के संसद के पहले बजट सत्र के पहले ही दिन आज लोकसभा में भारी हंगामा हुआ जिसके कारण सदन की बैठक करीब 40 मिनट के लिए दोपहर 12 बजे तक स्थगित कर दी गई। सदन की कार्यवाही शुरू होते ही तृणमूल कांग्रेस, कांग्रेस, वाम दल, राजद, सपा, राकांपा सहित लगभग समूचे विपक्ष के सदस्य प्रश्नकाल स्थगित कर महंगाई के मुद्दे पर चर्चा की मांग करने लगे।
इस बीच लोकसभा अध्यक्ष सुमित्रा महाजन ने सदस्यों से प्रश्नकाल चलने देने का आग्रह किया और कहा, ‘ यह बजट सत्र का पहला दिन है। मेरी आपसे अपील है कि प्रश्नकाल चलने दें। मैंने आपके सभी नोटिस को देखा है। हर एक बात पर चर्चा कराने की पूरी कोशिश करेंगे। लेकिन प्रश्नकाल बाधित नहीं करें, प्रश्नकाल बाधित नहीं हो।’ इससे पूर्व कर्नाटक के चिक्कोडी से लोकसभा के लिए चुनकर आए प्रकाश बबन्ना हुक्केरी ने सदन की सदस्यता की शपथ ली। इसके बाद प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने अपने मंत्रिपरिषद के सदस्य पीयूष गोयल का सदन से परिचय कराया जिनका पहले सत्र में परिचय नहीं हो पाया था।
इसके तुरंत बाद विपक्षी सदस्य आसन के समीप आ गए और महंगाई तथा रेल भाड़े के मुद्दे पर सरकार के खिलाफ नारे लगाने लगे। राजद के पप्पू यादव ने बिहार के मुजफ्फरपुर में जापानी इंसेफेलाइटिस से बच्चों की मौत के विषय पर चर्चा की मांग की। इस बीच कांग्रेस के उपाध्यक्ष राहुल गांधी भी अपसे स्थान आगे आकर उन सदस्यों के पास खड़े हो गए जो महंगाई के खिलाफ नारे लगा रहे थे। विपक्षी सदस्यों के भारी हंगामे के बावजूद अध्यक्ष ने प्रश्नकाल जारी रखा और शोर शराबे के बीच ही कुछ विषयों पर सदस्यों के प्रश्नों का मंत्रियों ने जवाब भी दिया। हंगामा थमता नहीं देख अध्यक्ष सुमित्रा महाजन ने लगभग 11 बजकर 20 मिनट पर सदन की कार्यवाही दोपहर 12 बजे तक स्थगित कर दी। उसके बाद संसद की कार्यवाही फिर 12 बजे शुरू हुई जो हंगामे की वजह से दोपहर 2 बजे तक स्थगित कर दी गई।
दोपहर 2 बजे सदन की कार्यवाही शुरू होने पर पहले जैसा नजारा रहा। विपक्ष कार्यस्थगत प्रस्ताव के तहत चर्चा की मांग पर अड़ा रहा जबकि सरकार ने कहा कि वह नियम 193 के तहत चर्चा को तैयार है। अध्यक्ष सुमित्रा महाजन ने कहा कि वह पहले ही कार्यस्थगन प्रस्ताव के नोटिसों को अस्वीकार कर चुकी हैं और नियम 193 के तहत महंगाई पर चर्चा कराने के उन्हें कई नोटिस मिले है जिसके तहत वह तत्काल चर्चा शुरू कराने को तैयार हैं। कांग्रेस के कैप्टन अमरिंदर सिंह ने कहा कि उन्होंने नियम 56 के तहत कार्यस्थगन का नोटिस दिया है और वह इसी के तहत चर्चा कराना चाहेंगे। इस पर अध्यक्ष ने कहा कि जब वह कार्यस्थगन प्रस्तावों को अस्वीकार करने का अपना निर्णय पहले ही दे चुकी हैं तो इसके तहत चर्चा का सवाल ही कहां उठता है।
उन्होंने कहा, ‘मैंने कार्यस्थगन प्रस्तावों के नोटिसों के बारे में अपनी व्यवस्था दे दी है। आप महंगाई पर चर्चा चाहते हैं। गरीबी की बात करना चाहते हैं। मैं इससे सहमत हूं और आप विषय पर 193 के तहत अभी चर्चा शुरू कर सकते हैं लेकिन अब कार्यस्थगन प्रस्ताव का सवाल ही पैदा नहीं होता है।’ कांग्रेस के वरिष्ठ नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया ने कहा कि जब राज्यसभा में इस विषय पर कार्यस्थगन प्रस्ताव के तहत चर्चा हो सकती है तो लोकसभा में क्यों नहीं? इस पर अध्यक्ष ने उन्हें बीच में ही टोकते हुए कहा कि दूसरे सदन में क्या चल रहा है, यह बात इस सदन में नहीं उठ सकती है।
संसदीय कार्य मंत्री वेंकैया नायडू ने कहा कि विपक्ष महंगाई पर चर्चा कराना चाहता है और सरकार उसके लिए तैयार है। उन्होंने कहा कि कार्यस्थगन प्रस्ताव के नोटिसों के बारे में आसन की ओर से पहले ही व्यवस्था आ चुकी है। ऐसे में कुछ अन्य सदस्यों ने 193 के तहत महंगाई पर चर्चा कराने के लिए नोटिस दिये हैं और अगर अध्यक्ष अनुमति देती हैं तो सरकार इस नियम के तहत तुरंत चर्चा के लिए तैयार है।
इस बीच कांग्रेस और आम आदमी पार्टी के सदस्य आसन के सामने आकर कार्यस्थगन प्रस्ताव के तहत चर्चा की मांग करने लगे। अध्यक्ष ने कहा कि उन्हें नियम 193 के तहत महंगाई पर चर्चा शुरू कराने के छह नोटिस मिले हैं। उन्होंने बताया कि चूंकि माकपा के पी करणाकरण का नोटिस उन्हें सबसे पहले मिला है। इसलिए वह चर्चा की शुरूआत करेंगे। चर्चा करने के लिए उन्होंने करणाकरण का नाम भी पुकारा लेकिन सदन में व्यवस्था नहीं बनने पर अध्यक्ष ने लोकसभा की कार्यवाही पुन: शुरू होने के 10 मिनट बाद ही मंगलवार सुबह 11 बजे तक के लिए स्थगित कर दी।

Updated : 2014-07-07T05:30:00+05:30
Next Story
Share it
Top