Top
Home > Archived > सीएमएचओ कार्यालय में बिजली का दुरुपयोग

सीएमएचओ कार्यालय में बिजली का दुरुपयोग

दिन में जलती है ट्यूबलाइट, घूमते हैं पंखे

श्योपुर । श्योपुर जिला चिकित्सालय के सीएमएचओ कार्यालय में इन दिनों बिजली की जमकर बर्बादी की जा रही है। बात चिकित्सकों, कर्मचारियों को हवा-पानी और रोशनी उपलब्ध कराने के लिए बिजली के भरपूर उपयोग की हो वहां तक कोई दिक्कत नहीं है लेकिन परेशानी तब उत्पन्न होती है जब बिजली के दुरुपयोग के नजारे सदुपयोग की स्थितियों पर हावी हो जाते हैं।
एक समय तक जिस जिला मुख्यालय के चिकित्सालय में प्रसव कार्य तक मोमबत्ती और टॉर्च की रोशनी में होने की शिकायतें उभरकर सामने आया करती थीं उस चिकित्सालय में अब बिजली की बर्बादी हो रही है। सीएमएचओ कक्ष के बाहर एक कूलर रखा है जहां आने-जाने वाले लोगों से हस्ताक्षर कराने के लिए एक महिला कर्मचारी बैठती लेकिन कई बार देखने में आया है कि कोई नहीं बैठता तब भी कूलर चलता रहता है और ये ही नहीं विभागीय कर्मचारियों के लिए हॉल के अंदर चैम्बर बनाए गए जिनमें आज तक कोई नहीं बैठता लेकिन उसके बावजूद में हॉल में लगे 15 से 20 पंखे एवं अनेक ट्यूबलाईट एक साथ दिन भर जलती रहती हैं। जिससे हर माहीने शासन के पैसे का दुरुपयोग तो हो ही रहा है साथ ही बिजली की बर्बादी भी हो रही है। आज तक जिम्मेदार अधिकारियों ने इस ओर कोई ध्यान नहीं दिया है जिससे ये साफ होता है के संबंधित अधिकारी अपने कार्य के प्रति कितने जिम्मेदार हैं।

प्रत्येक कक्ष में लगे हैं पंखे और कूलर
जो चीज बैठे-ठाले जरूरत से ज्यादा मिल जाती है, वह अपनी कीमत खो देती है। यही बात सीएमएचओ कार्यालय में सुचारू रूप से जारी बिजली पर भी लागू होती है। क्योंकि सीएमएचओ कार्यालय के प्रत्येक कक्ष में एक से दो पंखे लगे हुए है साथ ही कूलर भी लगे हुए।
हालाकि यहां तक तो ठीक चिकित्सकों व कर्मचारियों को गर्मी से राहत देने के मकसद से व्यवस्था की गई है लेकिन कर्मचारियों द्वारा इसका दुरुपयोग किया जा रहा है वह गलत है। इसलिए संबंधित अधिकारी को बिजली के दुरुपयोग को रोकने के लिए कर्मचारियों को समझाईश दी जानी चाहिए।

इनका कहना है
आपका कहना सही है कई बार मैंने खुद पंखे व ट्यूब लाईट बंद की है, में अभी बाहर हूॅं आते ही सख्त निर्देश जारी करूंगा। निर्देशों का उल्लंघन करने वाले कर्मचारियों के विरुद्ध जुर्माने की कार्यवाही की जाएगी।
डॉ. आर.सी. उदैनिया
मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी 

Updated : 2014-07-30T05:30:00+05:30
Next Story
Share it
Top