Top
Home > Archived > सिर पर घन पटककर पत्नी की हत्या

सिर पर घन पटककर पत्नी की हत्या

ग्वालियर। आधी रात में पत्नी के सिर पर लोहे का घन मारकर एक नशेड़ी युवक ने उसकी हत्या कर दी। हत्या का कारण चरित्र पर संदेह होना बताया जा रहा है। घटना के बाद पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है।
प्राप्त जानकारी के अनुसार कोटेश्वर मंदिर के पास स्थित चन्दन नगर में रहने वाले पूरन सिंह पुत्र पुरुषोत्तम गुर्जर ने अपनी 35 वर्षीय पत्नी सुनीता गुर्जर की सोमवार-मंगलवार की रात करीब एक बजे हत्या कर दी। घटना के समय आरोपी अपनी पत्नी के साथ कमरे में अकेला था। घटना के बाद पास वाले कमरे में सो रहे मृतका के 16 वर्षीय पुत्र मनोज और 14 वर्षीय संतोष को माँ के चीखने की आवाज आई तो वे अपने कमरे से बाहर आए। दोनों ने पास के कमरे में पहुंचकर देखा तो मां खून से लथपथ पड़ी थी। उसके पास ही खून से सना हुआ घन और दो बड़े पत्थर रखे दिखे। दोनों बच्चों को देखकर उनका आरोपी पिता मकान के सीढिय़ों से कूदकर भाग गया। दोनों बच्चे दौड़कर उनके घर के पास ही रहने वाली अपनी बुआ के घर पहुंचे तथा उन्हें एवं पड़ौसियों को घटना के बारे में बताया। बुआ के परिजनों और पड़ौसियों ने बच्चों के साथ जाकर सुनीता को देखा उस समय वह दम तोड़ चुकी थी। पड़ौसियों ने रात में ही घटना की सूचना पुलिस को दी। घटना स्थल पर पहुंची ग्वालियर थाना पुलिस ने मृतका के पुत्रों, रिश्तेदारों और पड़ौसियों से पूछताछ की। कुछ ही देर में पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर लिया। आरोपी ने पुलिस को बताया है कि उसकी पत्नी चरित्रहीन थी। बार-बार मना करने पर भी वह नहीं मान रही थी। इस कारण उसने सोते में ही पत्नी के सिर पर घन पटक कर उसकी हत्या कर दी। मृतका के पुत्र मनोज ने बताया कि रात में घर में किसी तरह का कोई विवाद नहीं था। आधी रात में सोते में अचानक उनकी नींद मां की चीख से खुली। उन्होंने बाहर निकलकर देखा तो मां खून से लथपथ पड़ी थी और पिता कमरे से निकलकर बाहर भाग रहा था। उन्होंने बताया कि उनका पिता पूरन नशेड़ी था। मां के मना करने पर भी वह नशा नहीं छोड़ रहा था। नशे में ही उसने मां की हत्या कर दी।
शराब फैक्ट्री में मजदूरी करता था आरोपी
पत्नी की हत्या करने वाला पूरन मूलत: बिजौली का रहने वाला है। उसके पिता ने उसके लिए चन्दन नगर में जबकि उसके तीन भाइयों के लिए शहर में अन्य तीन स्थानों पर मकान बनवाए हैं। चन्दन नगर में रहकर पूरन मजदूरी करता था। वह रायरू स्थित शराब फैक्ट्री में अस्थाई रूप से मजदूरी करता था। वह गांजा, भांग, शराब जैसे नशे का आदी था।
परिजनों के आने पर उठा शव
मृतका सुनीता की हत्या रात में 1 बजे हुई। पुलिस ने भी रात में ही घटना स्थल पर पहुंचकर अपनी सम्पूर्ण कार्रवाई पूरी कर ली थी। इसके बावजूद मृतका का शव मृतका के मायका पक्ष के परिजनों के आने पर ही सुबह 10:30 बजे शव विच्छेदन के लिए भेज जा सका। मृतका का मायका ग्राम देवगढ़ जौरा में है। 

Updated : 2014-07-30T05:30:00+05:30
Next Story
Share it
Top