Top
Home > Archived > साहब: थाना प्रभारी ने नहीं लिखी हमारी रिपोर्ट

साहब: थाना प्रभारी ने नहीं लिखी हमारी रिपोर्ट

एक साल से लापता किशोरी की रिपोर्ट लिखाने चक्कर लगा रहे परिजन

कराहल । साहब: थाना प्रभारी ने नहीं लिखी हमारी रिपोर्ट  रिपोर्ट दर्ज कराने के लिए मैं पिछले साल भर से सेसईपुरा थाने के चक्कर लगा रहा हूं, लेेकिन थाना प्रभारी हमारी रिपोर्ट दर्ज नहीं कर रहे हैं। यह गुहार बूढ़ा मोरावन निवासी गछाली आदिवासी ने गत दिवस जनसुनवाई के माध्यम से पुलिस अधीक्षक से लगाई।
पुलिस अधीक्षक को सौंपे ज्ञापन में गछाली आदिवासी ने बताया कि गत 24 जुलाई 2013 को मेरी 12 वर्षीय पुत्री किरण अचानक घर से लापता हो गई। गछाली आदिवासी का कहना है कि उनकी पुत्री का अपहरण बृजेश पुत्र रामचरण धानुक ने किया है।
दोषियों के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कराने के लिए गछाली आदिवासी कई बार सेसईपुरा थाने के चक्कर लगा चुका है, लेकिन थाना प्रभारी द्वारा साल भर का समय बीत जाने के बाद भी एफआईआर दर्ज नहीं की गई है।

पूछताछ कर छोड़े आरोपी
बूढ़ा मोरावन निवासी गछाली आदिवासी का कहना है कि बार-बार आवेदन देने पर सेसईपुरा थाना पुलिस ने अहमदाबाद से तीन लोगों को गिरफ्तार भी किया था, लेकिन दो-तीन बाद ही पुलिस ने आरोपियों से साठगांठ कर उन्हें छोड़ दिया है।

कहते हैं तुम्हारी रिपोर्ट दर्ज है
लापता किशोरी के पिता गछाली अपनी गुमशुदा पुत्री का अपहरण करने वाले दोषियों के खिलाफ कार्रवाई करने के लिए बार-बार सेसईपुरा थाने के चक्कर लगाने को मजबूर है। जब भी वे शिकायती आवेदन लेकर जाते हैं तो उन्हें एक ही जवाब मिलता है कि तुम्हारी शिकायत दर्ज कर ली गई है। लेकिन उन्हें रिपोर्ट दर्ज करने की कोई पावती या रसीद नहीं मिली है। जब भी वे पावती मांगते हैं, तो उन्हें थाने से चलता कर दिया जाता है।

Updated : 2014-07-20T05:30:00+05:30
Next Story
Share it
Top