Home > Archived > फेसबुक पर भद्दी अपमानजनक टिप्पणियां करने पर नपाध्यक्ष ने ठेकेदार पर कराया मामला दर्ज

फेसबुक पर भद्दी अपमानजनक टिप्पणियां करने पर नपाध्यक्ष ने ठेकेदार पर कराया मामला दर्ज

शिवपुरी । नगरपालिका अध्यक्ष रिशिका अनुराग अष्ठाना द्वारा पुलिस को दिए गए एक शिकायती आवेदन की जांच के पश्चात पुलिस ने नगरपालिका के ठेकेदार अर्पित शर्मा के खिलाफ 66 ए आईटी एक्ट के तहत प्रकरण दर्ज किया है।
ठेकेदार पर आरोप है कि उन्होंने अपने फेसबुक एकाउण्ट से नपाध्यक्ष रिशिका अष्ठाना और उनके पति अनुराग अष्ठाना के विरूद्ध कई अपमानजनक और मानहानिजनक टिप्पणियां की थीं तथा उनके फेसबुक मित्रों ने भी न केवल उन टिप्पणियों का समर्थन किया था, बल्कि चोर, कुत्ता, शिवपुरी के विकास में अवरोधक उन्हें बताया था।
एसपी महेन्द्र सिंह सिकरवार ने जानकारी देते हुए बताया कि नपाध्यक्ष रिशिका अष्ठाना द्वारा लगभग 15 दिन पूर्व उन्हें एक शिकायती आवेदन सौंपा था। जिसमें उल्लेख किया गया था कि नगरपालिका शिवपुरी में ठेकेदारी का कार्य करने वाले अर्पित शर्मा पानी की टंकी के पास नपा द्वारा निर्माण कराई गई दुकानों में से कुछ दुकानें गलत तरीके से खरीदने के लिए नपाध्यक्ष पर दबाव बना रहा था। जब नपाध्यक्ष ने ऐसा करने से इनकार कर दिया तो ठेकेदार द्वेष भावना रखने लगा और फेसबुक आईडी पर अर्पित शर्मा ने नपाध्यक्ष और उनके पति के फोटो पोस्ट कर दिये। जिस पर भद्दी टिप्पणियां अर्पित शर्मा के फेसबुक दोस्तों के द्वारा की गईं। जिससे श्रीमती अष्ठाना और उनके पति अनुराग अष्ठाना की मान हानि हुई।
एसपी ने बताया कि उन्होंने मामले की जांच का जिम्मा एसडीओपी एसकेएस तोमर को सौंपा था। जांच में सिद्ध हुआ कि ठेकेदार ने अपने हित साधने के लिए इस तरह का कृत्य किया। लेकिन इस मामले में फरियादी ने फेसबुक पर कमेंट्स करने वाले अर्पित शर्मा के फेसबुक मित्रों के खिलाफ भी कार्रवाई करने की मांग की थी, लेकिन उनके विरुद्ध क्या कार्रवाई हुई यह स्पष्ट नहीं हो सका।

मेरी छवि धूमिल करने का प्रयास किया गया : नपाध्यक्ष

नपाध्यक्ष रिशिका अष्ठाना ने बताया कि ठेकेदार अर्पित शर्मा ने अपने साथियों पं. आदित्य व्यास, दिलीप ओझा, मयंक खेमरिया, देव सिंह, गौरव शिवहरे, एसके सिंह, प्राची सिंह, कुक्कु भाई, रानू रघुवंशी, मनोज राजोरिया, कुणाल शर्मा, जयेश फडऩीस के माध्यम से मेरी सार्वजनिक छवि धूमिल करने और मुझे मानसिक रूप से प्रताडि़त करने का प्रयास किया। अपने फेसबुक एकाउण्ट से अर्पित शर्मा ने लिखा कि दोस्तों पहचानो ये कौन हंै इन्होंने क्या-क्या काम किए, ये बताओ। फेसबुक पर मेरे और मेरे पति अनुराग बहादुर अष्ठाना की अलग-अलग फोटो डालकर लिखा कि ये है जोड़ी नंबर-1 भ्रष्टाना (अष्ठाना का विद्रुपीकरण कर भ्रष्टाना लेख किया है)। मेरे पति की फोटो डालकर लिखा कि दोस्तो शिवपुरी का विकास न होने की वजह आप जानते हैं ये भ्रष्टाना है। श्रीमती अष्ठाना ने कहा कि अर्पित शर्मा के अलावा उनके उन फेसबुक मित्रों के विरूद्ध भी प्रकरण कायम होना चाहिए। जिन्होंने अपमानजनक शब्दों की पराकाष्ठा कर उनका चरित्र हनन किया है। 

Updated : 2014-06-01T05:30:00+05:30
Next Story
Share it
Top