Home > Archived > पराजय के बाद भी एकजुट रहेगा संयुक्त प्रगतिशील गठबंधन: शरद पवार

पराजय के बाद भी एकजुट रहेगा संयुक्त प्रगतिशील गठबंधन: शरद पवार

पराजय के बाद भी एकजुट रहेगा संयुक्त प्रगतिशील गठबंधन: शरद पवार
X

मुम्बई | लोकसभा चुनाव के बाद संप्रग 3 की सरकार बनने का विश्वास व्यक्त करते हुए राकांपा अध्यक्ष शरद पवार ने कहा है कि अगर पराजित भी हुए तब भी वह एकजुट रहेगा और कांग्रेस झटके से उबर आयेगी।
केंद्रीय कृषि मंत्री पवार ने एक साक्षात्कार में कहा कि सबसे पहले मुझे नहीं लगता है कि चुनाव के बाद संप्रग 3 नहीं आयेगा। यह अकेले कांग्रेस की ताकत से नहीं, बल्कि अन्य दलों के समर्थन से होगा। अगर राजग सरकार बनती है तब भी संप्रग 100 प्रतिशत एकजुट रहेंगे।
राकांपा के दिग्गज नेता ने कहा कि अगर राहुल गांधी लोक सभा चुनाव में प्रदर्शन करने में विफल रहते हैं, तब उन्हें नहीं लगता कि कांग्रेस प्रियंका वाड्रा जैसे किसी नये नेता को तलाशेगी। उन्होंने कहा कि कांग्रेस अजीब पार्टी है। उसे झटका लगता है और वह इससे उबर जाती है। अगर ऐसी स्थिति आती है (जब कांग्रेस को विपक्ष में बैठना पड़ता है), तब अच्छे नेताओं का दल उनके (राहुल) नेतृत्व में काम करेगा।
पवार ने कहा कि राहुल प्रचार अभियान में अच्छा कर रहे हैं, काफी यात्रा कर रहे हैं और चुनावी रैलियों को संबोधित कर रहे हैं लेकिन उन्हें लगता है कि राहुल को सरकार में शामिल होना चाहिए। उन्होंने कहा कि अगर वह सरकार में मंत्री के तौर शामिल होते हैं, तब उन्हें अच्छा अनुभव मिलता और लोग उन्हें काम करता देखते। लेकिन मुझे लगता है कि वह इससे वंचित रह गए। डॉक्टर मनमोहन सिंह ने उन्हें खुले तौर पर आमंत्रित किया था।
यह पूछे जाने पर कि क्या राहुल नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व वाली भाजपा की आक्रामक चुनौती से निपटने में सफल होंगे, पवार ने इसका जवाब हां में दिया। पवार ने कहा कि कांग्रेस पर आक्रामक प्रहार उसे तेजी से उबरने में मदद करेगी।
उन्होंने कहा कि मुझे नहीं लगता कि मोदी प्रधानमंत्री बन पायेंगे। अगर मान लिया जाय कि ऐसा होता है और कांग्रेस के उपर आक्रामक प्रहार होते भी हैं तो भी पार्टी उबर जायेगी क्योंकि कांग्रेस एकजुट होकर लडेगी, चाहे जो हो।
यह पूछे जाने पर कि क्या वह भी प्रधानमंत्री की तरह, जैसा उन्होंने कहा है, सरकार अथवा विपक्ष में, वे भी राहुल के तहत काम करने को तैयार होंगे, पवार ने कहा कि मनमोहन सिंह ने संगठन के युवा नेतृत्व के तहत काम करने की बात कही थी। उन्होंने कहा कि भास्कर जाधव मेरी पार्टी के राज्य इकाई के प्रमुख हैं। संगठन में पद के वरीयता का सम्मान किया जाना चाहिए। इस संदर्भ में मनमोहन सिंह ने राहुल गांधी के तहत काम करने को तैयार होने की बात कही थी। 

Updated : 22 April 2014 12:00 AM GMT
Next Story
Top