Top
Home > Archived > सोनिया गांधी से किसी प्रमाण पत्र की आवश्यकता नहीं: मोदी

सोनिया गांधी से किसी प्रमाण पत्र की आवश्यकता नहीं: मोदी

सोनिया गांधी से किसी प्रमाण पत्र की आवश्यकता नहीं: मोदी
X

इटानगर। नरेंद्र मोदी ने सोनिया गांधी की देशभक्ति पर सवाल उठाते हुए आज कहा कि देश के लोगों को उनसे (कांग्रेस अध्यक्ष) किसी प्रमाणपत्र की आवश्यकता नहीं है। इसके साथ ही उन्होंने यह भी पूछा कि किसके इशारे पर इतालवी मरीनों को देश छोड़ने का मौका मिला था। देश के सवा सौ करोड़ लोगों की देश भक्ति पर संदेह करने का उन्हें कोई अधिकार नहीं है। वो व्यक्ति देश भक्ति की बातें बोल रहा है जो केरल के निरीह मछुआरों की हत्या करने वाले इटली के दो सैनिकों को देश से बाहर जाने में मदद की। यह हमारे देश की सुप्रीम कोर्ट के डंडे के डर से दोनों इटली के हत्यारों को वापस देश में लाया गया। इसकी जिम्मेवारी केंद्र की सरकार की मुखिया सोनिया गांधी को जिम्मेदारी लेनी होगी।
उल्लखनीय है कि बीते कल असम में सोनिया गांधी ने मोदी पर आरोप लगाया था। ज्ञात हो कि नरेंद्र मोदी कभी भी सोनिया गांधी पर इस तरह के सीधे हमला किया है। उन्होंने सोनिया गांधी पर दिल्ली में अरुणाचल के छात्र की हत्या के संबंध में एक भी शब्द नहीं कहने पर जमकर लताड़ा। उन्होंने कहा कि वे अरुणाचल प्रदेश की महान परंपरा व इज्जत का आदर करते हैं, उसका सम्मान करते हैं।
मोदी ने चुनाव आयोग की निष्पक्षता की तारीफ करने के साथ ही अरुणाचल में भाजपा के नेताओं को जबरदस्ती नामांकन वापस लेने के लिए कांग्रेसी दबाव बनाने के संबंध में कार्रवाई करने की मांग की। उन्होंने कहा कि कांग्रेस के मुख्यमंत्री बाहुबल का प्रयोग कर भाजपा के विधानसभा उम्मीदवारों को नामांकन वापस कराने का षडयंत्र कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि अरुणाचल के कांग्रेसी मुख्यमंत्री को 16 मई के बाद दिल्ली में कौन बचाएगा। भाजपा नेता ने कहा कि अरुणाचल के मुख्यमंत्री को चुनाव लड़ने की हिम्मत नहीं है। कारण उनको पता है कि चुनाव में उनकी हार निश्चित है। कांग्रेस का अहंकार सातवें आसमान पर है। राज्य में विधायकों की खरीद-फरोख्त कर कांग्रेस सरकार बनाती है। इसके चलते राज्य का विकास बाधित हो रहा है। उन्होंने कहा कि राज्य में प्राकृतिक संसाधन प्रचूर मात्रा में है, अगर सरकार यहां पर संसाधान मुहैया कराए तो विश्वस्तरीय फिल्मों के लिए लोकेशन मुहैया कराया जा सकता, जिसका लाभ राज्यवासियों को मिलेगा और राज्य तेजी से विकास के पथ पर अग्रसर होगा। भाजपा के प्रधानमंत्री पद के उम्मीदवार ने कहा कि देश को कांग्रेस मुक्त बनाना होगा। उन्होंने कहा कि महात्मा गांधी भी देश से कांग्रेस को समाप्त करना चाहते थे। उन्होंने राज्यवासियों से वादा तोड़ने वाली कांग्रेस पार्टी से नाता तोड़ने का आह्वान किया।

Updated : 2014-03-31T05:30:00+05:30
Next Story
Share it
Top