Top
Home > Archived > सायना और सिंधू पर रहेंगी करोड़ों भारतीय निगाहें

सायना और सिंधू पर रहेंगी करोड़ों भारतीय निगाहें

नई दिल्ली | देश की शीर्ष खिलाडी़ सायना नेहवाल और विश्व चैंपियनशिप की कांस्य पदक विजेता पीवी सिंधू पर सीरी फोर्ट स्पोर्ट्स काम्पलेक्‍स में एक से छह अप्रैल तक खेले जाने वाले ढाई लाख डालर के इंडिया ओपन सुपर सीरीज बैडमिंटन टूर्नामेंट में करोड़ों भारतीय उम्मीदों का दारोमदार रहेगा।
सायना ने इस वर्ष लखनऊ में सैय्यद मोदी ग्रां प्री गोल्ड बैडमिंटन टूर्नामेंट जीता था, लेकिन इस जीत को छोड़ दिया जाए तो वह पिछले 18 महीनों में एक भी बडा़ खिताब नहीं जीत पाई हैं। लेकिन ओलंपिक कांस्य विजेता सायना ने विश्वास व्यक्‍त किया है कि वह इंडिया ओपन में इस बार निश्चित ही शानदार प्रदर्शन करेंगी। सायना ने सिंधू को हराकर सैय्यद मोदी टूर्नामेंट जीता था, लेकिन वह मार्च में आल इंग्लैंड चैंपियनशिप और फिर स्विस ओपन टूर्नामेंट में कवार्टरफाइनल में हारकर बाहर हो गई थीं। सायना को दुनिया के दिग्गज खिलाड़ियों से सजे इंडिया ओपन में आठवीं वरीयता दी गई है।
इंडिया ओपन में इस बार मुकाबला काफी कड़ा होना है, क्‍योंकि महिला एकल में शीर्ष दस में स्थान रखने वाली सभी खिलाडी़ शामिल हैं, जबकि पुरुष वर्ग में टॉप टेन में से सात खिलाडी़ हिस्सा लें रहे हैं। सायना का पहला मुकाबला आस्ट्रिया की साइमन प्रूश्च से होगा जबकि स्विस ओपन के सेमीफाइनल तक पहुंची और विश्व की नौवे नंबर की खिलाडी़ सिंधू का पहले राउंड में दूसरी सीड और विश्व की नंबर दो चीन की शिजियान वांग के साथ मुकाबला होगा।
सिंधू का चीनी खिलाडी़ के खिलाफ 3.0 का रिकार्ड है और उन्होंने वांग को स्विस ओपन के कवार्टर फाइनल में हराया था। महिलाओं के एकल के मुख्य ड्रा में अन्य भारतीय खिलाड़ियों में तन्वी लाड पूर्व राष्ट्रीय चैम्पियन तृप्ति मुरगुंडे, पीसी तुलसी, शैली राणे और अरूंधति पंतवाने शामिल हैं।
पुरुषों के मुख्य ड्रा में भारतीयों में रूपल्ली कश्यप, मलेशियन ओपन में उपविजेता रहे सौरभ वर्मा, आरएमवी गुरूसाईदत्र, बी साई प्रणीत, के श्रीकांत, आनन्द पवार और एचएस प्रणय अपनी चुनौती पेश करेंगे। सायना और सिंधू को टूर्नामेंट के ड्रा के दूसरे हाफ के रखा गया है और यदि वे अपने रास्ते की चीनी बाधाओं को पार कर जाती हैं तो उनके बीच सेमीफाइनल में मुकाबला हो सकता है। सायना को अपने अभियान में कवार्टर फाइनल में पूर्व विश्व चैंपियन और तीसरी सीड चीन की यिहान वांग के रूप में बडी़ चुनौती मिल सकती है।
सिंधू के सामने पहली बाधा तो आल इंग्लैंड चैंपियन शिजियानवांग हैं। सिंधू यदि पहली बाधा पार कर जाती हैं तो उनका अगला सामना जापान की सयाका ताकाहाशी और कोरिया की छठी सीड सुंग जी ह्यून में से किसी खिलाडी़ से हो सकता है।
पुरुष वर्ग में सर्वाधिक रैंकिंग रखने वाले थाईलैंड ग्रांप्री गोल्ड के विजेता श्रीकांत का पहला मुकाबला जापान के ताकूमा यूएदा से होगा जो 21वें स्थान के साथ विश्व रैंकिंग में श्रीकांत से एक स्थान ऊपर हैं। कश्यप का पहला सामना छठी सीड चीन के झेंगमिंग वांग से होगा, जबकि युवा ओलंपिक के रजत विजेता एचएच प्रणय के सामने दूसरी सीड चीन के चेन लांग की चुनौती होगी।
आनंद पवार का सामना चौथी सीड डेनमार्क के जान ओ जोर्गेसनसे होगा। बी साई प्रणीत सातवीं सीड चीन के पेंग्यू डू से भिडेंगे। महिला युगल में राष्ट्रमंडल स्वर्ण विजेता ज्वाला गुट्टा और अश्विनी पोनप्पा का पहला मुकाबला थाईलैंड की जोडी़ से होगा और यदि वे इस बाधा को पार करती हैं तो दूसरे दौर में उनके सामने ओलंपिक स्वर्ण विजेता चीनी जोडी़ होगी। सिंधू ने टूर्नामेंट की पूर्व संध्या पर कहा कि वांग के खिलाफ मैंने पिछले तीन मैच जीते हैं। मैंने उन्हें हाल में स्विस ओपन के कवार्टर फाइनल में हराया था। निश्चित रूप से यह एक टफ ड्रा है लेकिन मुझे उम्मीद है कि घरेलू कोर्ट पर खेलने और वांग के खिलाफ पिछले मैचों में जीत से मुझे मनोवैज्ञानिक बढ़त मिलेगी।

Updated : 2014-03-31T05:30:00+05:30
Next Story
Share it
Top