Top
Home > Archived > सिडनी कैफे में बंदूकधारी ने लोगों का बनाया बंधक, भारतीय वाणिज्य दूतावास बंद

सिडनी कैफे में बंदूकधारी ने लोगों का बनाया बंधक, भारतीय वाणिज्य दूतावास बंद

सिडनी कैफे में बंदूकधारी ने लोगों का बनाया बंधक, भारतीय वाणिज्य दूतावास बंद

सिडनी | एक हथियारबंद व्यक्ति द्वारा आज ऑस्ट्रेलिया के चर्चित कैफे में कई लोगों को बंधक बनाए जाने और कैफे की खिड़की पर अरबी लिपि में इबारत वाला झंडा दिखाए जाने के बाद वहां सुरक्षा कड़ी कर दी गयी और इसके चलते भारतीय वाणिज्य दूतावास सहित अनेक महत्वपूर्ण इमारतों को खाली करा लिया गया। अधिकारियों ने शहर के कारोबारी इलाका के मध्य मार्टिन प्लेस स्थित लिंड्ट चॉकलेट कैफे के इर्द-गिर्द की सड़कें बंद कर दी हैं और निकट की इमारतों से लोगों को हटा लिया. घटना को देखते हुए रेल सेवा को भी निलंबित कर दिया गया है। सिडनी के मध्य में होने के कारण मार्टिन प्लेस को संसदीय, कानूनी और खुदरा इलाके के संगम के तौर पर जाना जाता है और इसके कारण यहां आम लोगों की गहमागहमी बनी रहती है । यहां के सिडनी ओपरा हाउस, स्टेट लाइब्रेरी, अमेरिकी वाणिज्य दूतावास और सभी अदालतों को खाली करा लिया गया है । न्यू साउथ वेल्स के पुलिस कमिश्नर एंड्रयू साइपियोन ने बताया कि केवल एक बंदूकधारी ने कई सारे लोगों को बंधक बना लिया है। घेराबंदी के महज पांच घंटे में कैफे से पांच लोगों को बाहर निकालते देखा गया जिनमें से दो को सामने के दरवाजे से निकाले और एक को आपातकालीन द्वार से निकलते देखा गया। यह अभी तक पता नहीं चल पाया कि उन्हें छोड़ा गया था या वे वहां से भागे थे। रिपोर्ट के मुताबिक, टेलीविजन फुटेज में यह दिख रहा है कि कैफे की खिड़की पर काला झंडा लगा है और लोग खिड़की पर हाथ टिकाए खड़े हैं। यह ‘इस्लामिक स्टेट’ झंडा नहीं है, बल्कि नमाजों में रोजाना इस्तेमाल होने वाला झंडा है।

Updated : 2014-12-15T05:30:00+05:30
Next Story
Share it
Top