Top
Home > Archived > दो लोगों के बीच निजी बातचीत का कभी हिस्सा नहीं रहाः द्रविड़

दो लोगों के बीच निजी बातचीत का कभी हिस्सा नहीं रहाः द्रविड़

नई दिल्ली। भारत के पूर्व क्रिकेट कप्तान राहुल द्रविड़ ने कहा कि वह कभी दो व्यक्तियों के बीच निजी चर्चा का हिस्सा नहीं रहे। सचिन तेंदुलकर के अपनी आत्मकथा में खुलासा किया है कि द्रविड़ को 2007 विश्व कप से पहले ग्रेग चैपल हटाना चाहते थे।
द्रविड़ ने कहा, ‘मैंने किताब के अंश नहीं पढ़े हैं। मैं इसके अलावा दो व्यक्तिगत लोगों के बीच निजी बातचीत का हिस्सा नहीं था। मैंने इससे पहले इस बारे में नहीं सुना और मुझे नहीं पता कि क्या हुआ और मैं कोई प्रतिक्रिया नहीं देना चाहता।’ हालांकि द्रविड़ ने कहा कि विश्व कप (2007 में) के बाद से सात साल बीत चुके हैं और अब यह उनके लिए कोई मायने नहीं रखता। द्रविड़ ने कहा, ‘लंबा समय बीच चुका है और अब यह मेरे लिए अधिक मायने नहीं रखता।’
गौरतलब है कि तेंदुलकर ने अपनी आगामी आत्मकथा ‘प्लेइंग इट माइ वे’ में लिखा है कि चैपल विश्व कप से पहले उनके घर पर आए और उन्हें द्रविड़ की जगह भारतीय कप्तान बनाने का सुझाव दिया।

Updated : 2014-11-04T05:30:00+05:30
Next Story
Share it
Top