Top
Home > Archived > हम ऑस्ट्रेलिया को उसके घर में मात दे सकते हैं: कोहली

हम ऑस्ट्रेलिया को उसके घर में मात दे सकते हैं: कोहली

मुंबई | ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ चार टेस्ट मैचों की श्रृंखला से पहले स्टार बल्लेबाज विराट कोहली ने शुक्रवार को कहा कि भारत चार मैचों की टेस्ट श्रृंखला में आक्रामक और सकारात्मक खेल की रणनीति अपनाएगा और उनकी युवा टीम ऑस्ट्रेलिया को उसके घर में मात दे सकती है।
कोहली ने दौरे पर जाने से पहले एक कहा, ‘हमें अपनी क्षमता और अपने टेस्ट खिलाड़ियों के जज्बे पर पूरा भरोसा है। हर कोई वहां जाने और ऑस्ट्रेलिया में परिस्थिति का अनुभव करने एवं वहां मिलने वाली चुनौती को लेकर उत्सुक है।’ गौरतलब है कि धोनी की अनुपस्थिति में कोहली ब्रिस्बेन में होने वाले पहले टेस्ट में टीम की कप्तानी करेंगे। नियमित कप्तान धोनी दायें अंगूठे की चोट की वजह से क्रिकेट से दूर हैं।
26 वर्षीय खिलाड़ी ने कहा, ‘हमें आक्रामक होने के साथ सतर्क रहना होगा। पहली प्राथमिकता सकारात्मक और आक्रामक होने पर होगी और फिर हम जहां संभव हो अपनी शर्तें तय कर सकते हैं। हमारा इरादा सकारात्मक एवं आक्रामक होना और ऐसी मनोदशा रखना होगा। हमारे पास निश्चित रूप से प्लान बी और प्लान सी होंगे जिनपर हम निर्भर होंगे।’
हालांकि धोनी के दूसरे टेस्ट में वापसी करने की उम्मीद है जो 12 से 16 दिसंबर के बीच एडीलेड में खेला जाएगा। तीसरा टेस्ट मेलबर्न में 26 से 30 दिसंबर के बीच और चौथा एवं आखिरी टेस्ट सिडनी में तीन से सात जनवरी के बीच खेला जाएगा। कोहली ने कहा कि टेस्ट टीम के लिए उपयुक्त खिलाड़ियों का चयन करना जरूरी है।
उन्होंने कहा, ‘हमें टेस्ट श्रृंखला के लिए सर्वश्रेष्ठ टीम चुननी होगी। टेस्ट श्रृंखला का मतलब एक विशेष संयोजन के साथ टिके रहने, उन्हें (खिलाड़ियों को) भरोसा देने और उन्हें यह नहीं जताना है कि उनकी जगह लेने के लिए दूसरे खिलाड़ी बैठे हुए हैं। हम इस मानसिकता के साथ वहां नहीं जा सकते कि हम वहां जाएंगे और जो होगा वह देखेंगे।’ कोहली ने कहा, ‘आपको हर वक्त जीत के बारे में सोचते रहना होगा। हमारे पास उन्हें उनके घर में हराने का अच्छा मौका है जैसा हम पूर्व में कर चुके हैं। ऐसा कोई कारण नहीं है कि हम उसे दोहरा नहीं सकते। टीम के सभी खिलाड़ी आक्रामक प्रवृति के हैं।’ भारतीय टीम कल तड़के ऑस्ट्रेलिया के लिए रवाना होगी।
अस्थायी कप्तान ने कहा कि विश्व कप से पहले ऑस्ट्रेलिया में खेलना फायदेमंद होगा क्योंकि विश्व कप से पहले खिलाड़ी ऑस्ट्रेलिया की परिस्थिति के आदी हो जाएंगे। कोहली ब्रिस्बेन टेस्ट में पहली बार टेस्ट मैच में भारत की कप्तानी करेंगे और उनका कहना है कि 2012 के अपने पिछले ऑस्ट्रेलिया दौरे में अच्छे प्रदर्शन के बाद वह इस बार दौरे को लेकर उत्साहित हैं।
पिछले दौरे पर एक शतक और एक अर्धशतक के साथ टेस्ट श्रृंखला में 300 रन बनाने वाले खिलाड़ी ने कहा, ‘मेरे लिए व्यक्तिगत तौर पर पिछला दौरा अपने करियर में मील का पत्थर था। 2012 का ऑस्ट्रेलिया का दौरा खत्म होने के साथ मैं एक अलग इंसान और क्रिकेटर बन चुका था।’ हालांकि भारत वह श्रृंखला 0-4 से हार गया था।

Updated : 2014-11-22T05:30:00+05:30
Next Story
Share it
Top