Top
Home > Archived > हथेलियां फैलाकर बोला बेटा माँ इतना सोना चुराया था मैंने

हथेलियां फैलाकर बोला बेटा माँ इतना सोना चुराया था मैंने

ग्वालियर। लूट के प्रयास के आरोप में पकड़े गए तीन आरोपियों से अपराध शाखा पुलिस के कार्यालय में पुलिसिया तरीके से हुई खातिरदारी ने तीनों आरोपियों से कई बड़ी चोरियों के राज उगलवा लिए हैं। गुरूवार को अपने बेटों को निर्दोष बताकर बचाने पहुंची उनकी माताओं के सामने आरोपियों ने चोरी की बात स्वीकार की। एक आरोपी ने तो दोनों हाथों की हथेलियां फैला दी और बोला मैंने इतना सोना चोरी कर बेचा है।
अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक अपराध शाखा के कार्यालय में बैठे आरोपियों के परिजनों को इसी कार्यालय में बुलवाकर उनके सामने आरोपियों से उनके अपराध स्वीकार कराए गए। साथियों के साथ हथेलीभर सोना चोरी करने की बात स्वीकारने वाले आरोपी की माँ ने जब उससे पूछा कि चोरी किया सोना कहां गया। उसने बताया कि 3 लाख में बेच दिया। उसमें से एक लाख रुपये उसे मिले जिन्हें उसने मौज-मस्ती में उड़ा दिया। उल्लेखनीय है कि विगत 30 अक्टूबर को इंदरगंज थाना पुलिस ने भैंसमण्डी फालका बाजार से महलगांव निवासी शाहरूख पुत्र बाबू खान, रोहित पुत्र हरीसिंह जाटव, मुकेश उर्फ मुक्की पुत्र ज्ञासी पाल एवं गुड़ागुड़ी का नाका निवासी गोलू उर्फ सफीक पुत्र रफीक मुसलमान को डकैती की योजना बनाने के आरोप में गिरफ्तार किया था।
पुलिस को पकड़े गए आरोपियों से दो कट्टे, कारतूस, सरिया एवं एक चाकू मिला था। पुलिस के अनुसार पकड़े गए आरोपियों के चार साथी लोकेन्द्र उर्फ एटीएम निवासी जीवाजीगंज, सतीष जाटव, राहुल खटीक निवासी मरघट के सामने कर्मचारी आवास कॉलोनी महलगांव और साहिद खान पुलिस से बचकर भाग निकले थे। पुलिस आरोपियों की तलाश कर रही थी। शुक्रवार को पुलिस ने तीन आरोपियों लोकेन्द्र उर्फ एटीएम, सतीष जाटव और राहुल खटीक को पकड़ लिया। इनकी गिरफ्तारी पुलिस ने नहीं दिखाई तथा रातभर इनकी खातिरदारी पहले गोला का मंदिर थाना में हुई। इसके बाद इन्हें सिटी सेंटर स्थित अपराध शाखा पुलिस के कार्यालय में लाकर पुलिसिया तरीके से पूछताछ की गई। सूत्र बताते हैं कि पकड़े गए चोरों से माधवनगर एवं चेतकपुरी क्षेत्र से हुईं दो बड़ी चोरियों सहित अन्य कुछ चोरियों का खुलासा हो सकता है। वरिष्ठ पत्रकार राकेश पाठक के घर हुई चोरी का खुलासा होने की बात भी अपुष्ट सूत्र बता रहे हैं।
मैडम मेरे बेटे को मार देगी
लूट एवं चोरियों के आरोप में पकड़े गए फरार आरोपियों राहुल खटीक और लोकेन्द्र उर्फ एटीएम की माँ तथा सतीष जाटव की बहनें उन्हें पुलिस से बचाने वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक के पास पहुंचीं। यहां उन्हें अपराध शाखा के कार्यालय में भेज दिया गया। जहां एएसपी अपराध शाखा श्रीमती प्रतिमा मैथ्यू ने सामने बैठाकर समझाइश दी कि नेतागिरी करोगे तो महंगा पड़ेगा। इसके बाद सभी परिजन वापस लौट गए। पुलिस अधीक्षक कार्यालय परिसर में पड़ौसियों के साथ पहुंची बिलखती राहुल खटीक की माँ का कहना था कि मैडम ने उसके बेटे को एन्काउंटर में मार देने की धमकी दी है। उसे कोई बचा लो मैडम उसे गोली मार देगी। इसी प्रकार लोकेन्द्र उर्फ एटीएम की माँ को भी समझाइश दी गई कि अगर वह नेतागिरी करेगी तो उसे भी लूट और चोरी का आरोपी बना दिया जाएगा। इसी तरह की समझाइश सतीष के परिजनों को भी दी गई तथा तीनों को वापस भेज दिया गया। 

Updated : 2014-11-02T05:30:00+05:30
Next Story
Share it
Top