Home > Archived > रेल भवन पर धरना देने बैठे केजरीवाल

रेल भवन पर धरना देने बैठे केजरीवाल

रेल भवन पर धरना देने बैठे केजरीवाल
X

नई दिल्ली। केंद्रीय गृह मंत्रालय के बाहर धरना देने जा रहे दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल रेल भवन पर ही धरना करने बैठ गए हैं। उन्हें आगे जाने से रोके जाने पर केजरीवाल ने यहीं अपने मंत्रियों के साथ धरने के लिए बैठने का ​फैसला किया है।केजरीवाल ने कहा कि वह दस दिन के धरने की तैयारी करके आए हैं। उन्होंने कहा कि ईमानदार पुलिस वाले पार्टी में आएं। साथ ही उन्होंने कहा कि पुलिस की जवाबदेही तय होनी चाहिए। उनके साथ मनीष सिसौदिया भी मौजूद थे।
केजरीवाल ने अपने भाषण में पुलिस वालों से भी आग्रह किया कि वे छुट्टी लेकर धरने में शामिल हों। उन्होंने यहां तक कह दिया कि अगर पुलिस कमिश्नर उन पर कार्रवाई करेंगे, तो वह उन्हें देख लेंगे।
उन्होंने कहा कि अगर किसी तरह का संवैधानिक संकट पैदा होता है, तो इसके लिए केंद्र सरकार, प्रधानमंत्री और गृहमंत्री जिम्मेदार होंगे।
केजरीवाल ने दिल्ली पुलिस पर आरोप लगाया कि जांच का दिलासा दिया जाता है, लेकिन कई मामलों में कोई कार्रवाई नहीं की जाती है। अब तक अपने समर्थकों को धरने पर नहीं आने की बात कह रहे केजरीवाल ने दिल्ली की जनता से धरने पर आने की अपील की।
मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के धरने में बडी संख्या में उनके समर्थकों और पार्टी कार्यकर्ताओं के पहुंचने की आशंका के चलते हुए चार मेट्रो स्टेशनों-पटेल चौक, केंद्रीय सचिवालय, उद्योग भवन और रेसकोर्स को बंद करने के निर्देश दिए गए हैं। ऐहतियात के तौर पर पुलिस ने रविवार को इस पूरे इलाके में धारा 144 लागू कर दी है।
गौरतलब है कि गृह मंत्रालय के बाहर धरना देने पर रोक लगाने की वजह से केजरीवाल और पुलिस के बीच टकराव की स्थिति बन चुकी है।


Updated : 20 Jan 2014 12:00 AM GMT
Next Story
Top