Top
Home > Archived > हे! सूर्यदेव अब तो दर्शन दे दो

हे! सूर्यदेव अब तो दर्शन दे दो

हे! सूर्यदेव अब तो दर्शन दे दो

ग्वालियर | हे सूर्यदेव अब तो दर्शन दे दो, भगवान अब तो धूप निकल आए। कुछ ऐसे ही प्रार्थना इन दिनों सूर्य नारायण और भगवान से करते हुए शहरवासी दिखाई दे रहे हैं। पिछले लगभग एक माह से कोहरा बारिश और कड़ाके की सर्दी से परेशान लोगों की दिनचर्या बिगड़ गई है। विपरीत मौसम से जालिम हुआ जाड़ा अब जुल्म ढा रहा है।
इस जानलेवा सर्दी के कारण हालत यह है कि सुबह नींद खुलने के बाद लोग रजाई छोडऩे की हिम्मत नहीं जुटा पा रहे हैं। विपरीत मौसम ने विशेष रूप से उन बेघर लोगों की परेशानी और अधिक बढ़ा दी है, जिनकी दिन-रात खुले आकाश के नीचे सड़कों पर गुजरती है। ऐसे लोग सुबह से शाम और शाम से सुबह तक ठंड से ठिठुर रहे हैं।
शुक्रवार को हुई बारिश के बाद मौसम शनिवार को भी विपरीत ही बना रहा। सुबह हल्की बूंदाबांदी भी हुई। इसके बाद दिन भर बादल छाए रहने से सूरज देवता के दर्शन नहीं हुए। ऊपर से करीब 4 से 6 कि.मी. प्रति घण्टे की गति से चलीं सर्द हवाओं ने आग में घी डालने का काम किया। ठंड के प्रकोप से परेशान अधिकतर लोग घरों से बाहर निकलने की हिम्मत नहीं जुटा पाए। कई लोग आग जलाकर ठंड से बचने का प्रयास करते रहे।
स्थानीय मौसम विज्ञान केन्द्र के अनुसार आज दिन व रात के तापमान में 2.6 डिग्री का ही अंतर रह गया। दिन का तापमान 15.8 डिग्री पर रहा, जो औसत से 6.1 डिग्री कम है, जबकि रात का तापमान 13.2 डिग्री दर्ज किया गया, जो औसत से 6.7 डिग्री अधिक है। इसी प्रकार प्रात: हवा में नमी 95 प्रतिशत दर्ज की गई, जो सामान्य से 23 प्रतिशत अधिक है, जबकि शाम को हवा में नमी 82 प्रतिशत रह गई, जो औसत से 38 प्रतिशत अधिक है। शुक्रवार से शनिवार सुबह तक बारिश 1.2 मि.मी. दर्ज की गई। स्थानीय मौसम विज्ञानी उमाशंकर चौकसे ने बताया कि अगले 24 घण्टों के दौरान भी मौसम आज की ही तरह विपरीत बने रहने की संभावना है।

Updated : 2014-01-19T05:30:00+05:30
Next Story
Share it
Top