Top
Home > Archived > सिख दंगा मामले में सज्जन की अर्जी पर टला फैसला

सिख दंगा मामले में सज्जन की अर्जी पर टला फैसला

सिख दंगा मामले में सज्जन की अर्जी पर टला फैसला

नई दिल्ली। 1984 सिख दंगों के आरोपी कांग्रेस नेता सज्जन कुमार की अर्जी पर सुनवाई टल गई है और अब अगली सुनवाई 15 मई को होगी। इस मामले में कांग्रेसी नेता सज्जन कुमार समेत पांच लोग आरोपी हैं। इसके अलावा, कैंट इलाके में हुए सिख विरोधी दंगों पर दिल्ली की एक अदालत मंगलवार को अपना फैसला सुनाएगी। इन दोनों मामले में सज्जन कुमार मुख्य आरोपी हैं। सज्जन कुमार समेत इन सभी आरोपियों पर दिल्ली की निचली अदालत ने जुलाई 2010 में हत्या, दंगा फैलाने के अलावा दो समुदायों में नफरत फैलाने के आरोप तय किए थे। सज्जन कुमार के खिलाफ पहला मामला सुल्तानपुरी इलाके में हुए दंगों का है, जहां एक आदमी की मौत हुई थी। सज्जन कुमार पर निचली अदालत में इस केस को लेकर आरोप तय हो चुके हैं और इसके खिलाफ उन्होंने जुलाई 2010 में उच्च न्यायालय का दरवाजा खटखटाया था। जिसे उच्च न्यायालय ने खारिज कर दिया था, इसके बाद सज्जन कुमार ने उच्च न्यायालय में पुनर्विचार याचिका दायर की थी। मामले की सुनवाई के बाद पिछले साल दिसंबर में अदालत ने अपना फैसला सुरक्षित रख लिया था।
वर्ष 1984 के सिख विरोधी दंगों में 6 लोगों की हत्या हुई थी, जिसे लेकर जस्टिस सुरेश कैत की अदालत दिसंबर 2012 में सुनवाई पूरी कर चुकी है और अब फैसला सुनाने की बारी है। इसी की अगली कड़ी में आज मामले पर अदालत ने फैसला टाल दिया है, जिसकी सुनवाई फिर से 15 मई को होगी।




Updated : 2013-04-29T05:30:00+05:30
Next Story
Share it
Top