Top
Home > Archived > दक्षिण कोरिया में पहली बार महिला बनी राष्ट्रपति

दक्षिण कोरिया में पहली बार महिला बनी राष्ट्रपति

सोल | पार्क ग्यून हेई को दक्षिण कोरिया की पहली महिला राष्ट्रपति के रूप में शपथ दिलायी गयी। शपथ ग्रहण के बाद हेई ने उत्तर कोरिया की ओर से किसी भी प्रकार की भड़काउ कार्रवाई को कतई बर्दाश्त नहीं करने और पड़ोसी देश द्वारा तत्काल अपनी ‘‘परमाणु महत्वाकांक्षाओं को छोड़ने’’ की मांग की। एशिया की चौथी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था की नेता 61 वर्षीय पार्क एक बड़े सैन्य अधिकारी की पुत्री हैं। देश की कमान संभालने के बाद उन्हें धीमी अर्थव्यवस्था और कल्याणकारी योजनाओं की बढ़ती कीमतों की चुनौतियों से निपटना होगा। सोल में नेशनल असेम्बली इमारत के बाहर 70 हजार लोगों की मौजूदगी में राष्ट्रपति पद की शपथ ग्रहण करते हुए पार्क ने उत्तर कोरिया से ‘‘बिना किसी देरी के अपनी परमाणु महत्वाकांक्षाओं को छोड़ने ’’ और अंतरराष्ट्रीय बिरादरी में शामिल होने का आह्वान किया। उत्तर कोरिया ने इस माह के शुरूआत में अपना तीसरा परमाणु परीक्षण किया था जिसकी अंतरराष्ट्रीय स्तर पर निंदा हुई और संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद ने उसके खिलाफ प्रतिबंधों को कड़ा करने की धमकी दी।
उन्होंने कहा कि उत्तर कोरिया द्वारा हाल ही में किया गया परमाणु परीक्षण कोरियाई लोगों के भविष्य और उनके अस्तित्व के लिए एक चुनौती है । इस बात में केाई संशय नहीं होना चाहिए कि उत्तर कोरिया को इसका सबसे अधिक खामियाजा भुगतना हेागा। प्योंगयांग के साथ विश्वास बहाली की नीति को आगे बढ़ाने के वादे के साथ ही हेई ने कहा, ‘‘ मैं ऐसी किसी कार्रवाई को बर्दाश्त नहीं करूंगी जो हमारे देश और हमारे लोगों की जिंदगी को खतरे में डालती हो।’’

Updated : 2013-02-25T05:30:00+05:30
Next Story
Share it
Top