Top
Home > Archived > सांप्रदायिक हिंसा रोधी विधेयक शीतकालीन सत्र में: शिंदे

सांप्रदायिक हिंसा रोधी विधेयक शीतकालीन सत्र में: शिंदे

सांप्रदायिक हिंसा रोधी विधेयक शीतकालीन सत्र में: शिंदे

नई दिल्ली | केंद्रीय गृह मंत्री सुशील कुमार शिंदे ने कहा कि सरकार का इरादा सांप्रदायिक हिंसा रोधी विधेयक को संसद के शीतकालीन सत्र में पेश करने का है। शिंदे ने कहा कि सरकार विधेयक पर किसी भी राज्य की चिंताओं को दूर करने के लिए तैयार है।
शिंदे ने कहा, "हमारा प्रयास इसे शीतकालीन सत्र में लाने का है। यदि किसी भी राज्य सरकार को किसी बिंदु पर कोई आपत्ति है तो वे मेरे कार्यालय से संपर्क कर सकते हैं।"
उन्होंने कहा कि विधेयक वर्ष 2005 से ही लंबित है। शिंदे ने कहा कि इस पर काफी चर्चा हो चुकी है। गृह सचिव अनिल गोस्वामी ने इस मामले पर राज्यों के गृह सचिवों की भी एक बैठक आयोजित की थी।
भारतीय जनता पार्टी इस विधेयक का विरोध कर रही है। पार्टी के प्रधानमंत्री पद के उम्मीदवार नरेंद्र मोदी ने प्रधानमंत्री और कुछ मुख्यमंत्रियों को इसके विरोध में पत्र लिखा है। संसद का शीतकालीन सत्र पांच दिसम्बर से शुरु हुआ। यह 20 दिसम्बर तक चलेगा।

Updated : 2013-12-10T05:30:00+05:30
Next Story
Share it
Top