Top
Home > Archived > दुष्कर्मियों की सजा की नहीं करूंगा सिफारिश: शिंदे

दुष्कर्मियों की सजा की नहीं करूंगा सिफारिश: शिंदे

दुष्कर्मियों की सजा की नहीं करूंगा सिफारिश: शिंदे
X

नई दिल्ली। केन्द्रीय गृह मंत्री सुशील कुमार शिंदे का कहा है कि यदि अदालत दुष्कर्मियों को मौत की सजा देती है, तो वह उनके लिए राष्ट्रपति से माफी की सिफारिश कभी नहीं करेंगे। शिंदे से सवाल किया गया था कि क्या वह बलात्कारियों की मौत की सजा माफ करने की सिफारिश राष्ट्रपति से करेंगे, तो उनका जवाब था, जब तक मैं इस कुर्सी पर (गृह मंत्री पद पर) हूं, मैं राष्ट्रपति से कभी भी ऎसी सिफारिश नहीं करूंगा। उन्होंने कहा कि दुष्कर्म के सभी मामलों को दुर्लभ से दुर्लभतम नहीं माना जा सकता, लेकिन 16 दिसंबर की रात 23 साल की युवती के साथ हुई गैंगरेप की घटना दुर्लभ से दुर्लभतम मामला माना जा सकता है। पूर्व राष्ट्रपति प्रतिभा पाटिल द्वारा मौत की सजा को कम करने के पूर्व के मामलों पर शिंदे ने कहा कि वह उन मामलों के बारे में नहीं जानते। कम से कम उनके (शिन्दे के) कार्यकाल के दौरान ऎसा नहीं हुआ। केवल एक मौत की सजा, जिसकी मैंने सिफारिश की थी (अजमल कसाब), सबको पता है। यहां तक कि वाशिंगटन पोस्ट ने भी इसको सराहा है। प्रतिभा पाटिल ने केन्द्र की सिफारिश पर 35 दोषियों की मौत की सजा कम कर दी थी, इनमें सात दुष्कर्मी भी शामिल थे।

Updated : 2013-01-12T05:30:00+05:30
Next Story
Share it
Top