Home > Archived > 'आतंकवादियों का नया हथियार है साइबर वर्ल्ड'

'आतंकवादियों का नया हथियार है साइबर वर्ल्ड'

आतंकवादियों का नया हथियार है साइबर वर्ल्ड
X


$img_titleगृहमंत्री सुशील कुमार शिंदे ने स्वीकार किया है कि आतंकवादियों द्वारा किए जाने वाले साइबर हमले एक नई चुनौती के रूप में सामने आए हैं। उन्होंने देश भर के पुलिस प्रमुखों और सुरक्षा एजेंसियों से कहा है कि वे इस तरह के हमलों का मुकाबला करने के लिए खुद को तैयार करें।
नया हथियार है साइबर वर्ल्ड
गुरुवार को सभी राज्यों के पुलिस प्रमुखों, केंद्रीय एजेंसियों और अर्द्धसैनिक बलों के वरिष्ठ अधिकारियों को संबोधित करते हुए शिंदे ने यह बात कही। इस दौरान उन्होंने साफ कहा कि आतंकवादियों ने साइबर जगत को अपना नया हथियार बनाया है। गृहमंत्री बनने के फौरन बाद मेरा सामना पुणे बम विस्फोटों और फिर सोशल मीडिया के जरिए फैलाई गई अफवाहों से हुआ। इससे यह साबित हुआ कि यह एक नई तरह की चुनौती है। हमें इसका मुकाबला करने के लिए विशेष तैयारी करनी होगी। उन्होंने कहा कि सरकार के पास इस बात के सबूत हैं कि आतंकवादियों ने साइबर तकनीक को नया हथियार बनाकर उसका गलत इस्तेमाल किया।
लगाम कसने की कवायद
सोशल मीडिया के गलत उपयोग का जिक्र करते हुए उन्होंने कहा कि पुलिस को इस क्षेत्र में ऐसी तकनीक और क्षमता विकसित करनी होगी जिससे न केवल भड़काऊ सामग्री का पता लगाया जा सके बल्कि यह भी पता चल सके कि ऐसी सामग्री किसने और कहां से अपलोड की है। उन्होंने पाकिस्तान की ओर से घुसपैठ कराए जाने की कोशिशों का भी जिक्र किया और कहा कि हर खुफिया जानकारी को गंभीरता से लिया जाना चाहिए। इन चीजों के अलावा उन्होंने पुलिस और केंद्रीय एजेंसियों के बीच बेहतर तालमेल, नक्सलवाद की समस्या और असम की हिंसा मामले पर चिंता जताई।


Updated : 2012-09-07T05:30:00+05:30
Next Story
Share it
Top