Home > Archived > उपेक्षित हो क्लाइमेक्स ने फुटबॉल से लिया सन्यास

उपेक्षित हो क्लाइमेक्स ने फुटबॉल से लिया सन्यास

उपेक्षित हो क्लाइमेक्स ने फुटबॉल से लिया सन्यास
X

नई दिल्ली। आगामी एएफसी चैलेंज कप के लिए टीम में जगह
$img_titleनहीं पा सके अनुभवी मिडफील्डर व भारतीय कप्तान क्लाइमेक्स लारेंस ने मंगलवार को अंतरराष्ट्रीय फुटबाल से संयास लेने की घोषणा कर दी। इस दौरान उन्होंने राष्ट्रीय कोच सावियो मेडिरा की भी आलोचना की जिसने बदले में कहा कि कोच खिलाड़ी को नहीं बता सकता कि उसे कब संन्यास लेना है।
पिछले साल दिसंबर में सैफ चैंपियनशिप में टीम को खिताबी जीत दिलाने वाले क्लाइमेक्स को एएफसी चैलेंज कप के लिए 30 सदस्यीय टीम में नहीं चुना गया। लोंरस ने बताया कि उसे राष्ट्रीय टीम से निकाले जाने पर दुख हुआ है। कोच सेवियो ने मुझे बुलाया और बताया कि उसे राष्ट्रीय टीम में नहीं रखा गया है। डेम्पो के लिए खेलने वाले क्लाइमेक्स ने कहा कि एक सीनियर खिलाड़ी के साथ ऐसा बर्ताव नहीं किया जा सकता। यदि मुझे पता होता कि ऐसा कुछ होगा तो मैं बायर्न म्युनिख मैच के बाद ही संन्यास ले लेता। उन्होंने कहा, कि सेवियो ने मुझे बताया था कि मुझमें अभी दो और साल का अंतरराष्ट्रीय करियर बाकी है। और अब उन्होंने यू-टर्न ले लिया। कोच मेडिरा ने कहा, कि मुझे क्लाइमेक्स के संन्यास के बारे में पता चला लेकिन खिलाड़ी को अपनी मर्यादा के बारे में पता होना चाहिए। एक कोच खिलाड़ी को नहीं बता सकता कि उसे कब रिटायर होना है। लारेंस ने जनवरी के मध्य में जर्मनी की क्लब ब्रायर्न म्युनिख के खिलाफ भारतीय टीम की कप्तानी की थी।
लारेंस ने पिछले साल बाइचुंग भुटिया के चोटिल होने के कारण एशिया कप में भारतीय टीम की कमान संभाली थी। पिछले साल विश्व कप क्वालीफाइंग टूर्नामेंट में भारतीय टीम की कमान संभालने वाले लारेंस ने सैफ कप के दौरान ही संन्यास लेने के बारे में बता दिया था कि वह इस टूर्नामेंट के बाद ही अंतरराष्ट्रीय फुटबाल से संन्यास लेना चाहते हैं। उन्होंने कहा, कि मैं संन्यास के बारे में सोच रहा था और मैंने तय किया था कि एएफसी चैंलेज कप के बारे अपने जूते उतार दूंगा। लेकिन ऐसा नहीं हो सका और मैं भारी मन से संन्यास ले रहा हूं।

Updated : 2012-02-01T05:30:00+05:30
Next Story
Share it
Top