Top
Home > Archived > दीपावली को एक दिन शेष,मंदा पड़ा बाजार

दीपावली को एक दिन शेष,मंदा पड़ा बाजार

दीपावली को एक दिन शेष,मंदा पड़ा बाजार
X


भोपाल .प्रदेशवासियों की जागरूकता कहीं जाए या महंगाई की मार, राजधानी सहित इंदौर, ग्वालियर, जबलपुर, रीवा जैसे बड़े संभाग केन्दों सहित जिलों में लगे पटाखा बाजारों में दीपावली को एक दिन शेष रहने के बावजूद भी अभी तक पटाखों की बिक्री जोर नहीं पकड़ पा रही है। जो पटाखे बिक भी रहे हैं उनमें ज्यादा धमाके वाले पटाखों से परहेज किया जा रहा है। लोगों को आकर्षित करने के लिए पटाखों के डिब्बों को फिल्म अभिनेत्रियों की तस्वीरों से सजाया गया है।पटाखा व्यापारी इसके लिए महंगाई के कारण कीमतों में आई उछाल को जिम्मेदार मान रहे हैं। गत वर्ष के मुकाबले इनकी कीमत में 20 से 25 फीसदी की वृद्धि हुई है। इस कारण ग्राहकों की संख्या कम है। पटाखा व्यवसायी रामप्रकाश कहते हैं कि लोग अब ज्यादा धुआं छोडऩे वाले पटाखों से परहेज कर रहे हैं। अभी जो बाजार में अधिक मांग है वह रोशनी वाले पटाखों की है।
एक अन्य पटाखा कारोबारी विवेक शिवहरे बताते हैं कि पटाखा बाजार की रौनक पिछले कुछ वर्षों से घटती जा रही है। इस बार तो गिनती के ग्राहक आ रहे हैं। आमतौर पर लोग बच्चों के लिए फुलझड़ी, अनार और स्काई शॉट पसंद कर रहे हैं। वहीं आकाश में तरह-तरह के रंग बिखेर कर आवाज करने वाले पटाखों की मांग बाजार मे बनी हुई है।ज्ञातव्य हो कि इस बार पटाखों की कीमत दस रुपए से शुरू होकर २0 हजार रुपए तक रखी गई है। लेकिन महंगे पटाखों के शोकीन ग्राहक प्रदेश में नामभर के हैं।
पटाखा कीमत प्रति पैकेट के हिसाब से
पेंसिल बम- 299,अनार- 392,ग्राउंड चरखी-150,हवाई तीन साउंड 890,हाइड्रो बम-110,बुलेट बम- 73,बिजली बम-95,फुलझड़ी-50,टर्की बम-1400,राकेट बड़ा-1068,स्काई शॉट- 1243,12 स्टार-112,
5000 वाला लड़ी-1924

Updated : 2012-11-11T05:30:00+05:30
Next Story
Share it
Top