Top
Home > राज्य > उत्तरप्रदेश > अन्य > उप्र के मेरठ में अफवाहों के चलते हुई अजीबों-गरीब घटना, पढ़े पूरी खबर

उप्र के मेरठ में अफवाहों के चलते हुई अजीबों-गरीब घटना, पढ़े पूरी खबर

-NPR सर्वे समझकर पोलियो टीम को बंधक बनाकर पीटा

उप्र के मेरठ में अफवाहों के चलते हुई अजीबों-गरीब घटना, पढ़े पूरी खबर

मेरठ। देश के कई हिस्सों में सीएए के विरोध के बीच लोगों में कई तरह की अफवाहें भी हैं। मेरठ में शनिवार को लिसाड़ी गेट क्षेत्र में पोलियो दवा पिलाने गई टीम को स्थानीय लोगों ने नेशनल पॉपुलेशन रजिस्टर (एनपीआर) टीम समझकर बंधक बना लिया और मारपीट कर दी। टीम को कमरे में बंद कर दिया। उनके सरकारी रजिस्टर फाड़ दिए। वैक्सीन छीन ली। घंटेभर तक हंगामा चला। स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों ने पहुंचकर लोगों को समझाया और टीम को बंधन मुक्त कराया। इस मामले में अज्ञात लोगों के खिलाफ थाना लिसाड़ी गेट में मुकदमा दर्ज किया गया है।

पल्स पोलियो टीम में स्टाफ नर्स नीतू और सपोर्ट स्टाफ दीपक शनिवार सुबह लिसाड़ी गेट के लखीपुरा गली-22 स्थित घरों में बच्चों को पोलियो ड्रॉप पिलाने के लिए पहुंचे। एक घर में परिजनों ने बच्चों को दवा पिलाने से मना कर दिया। इस पर टीम ने उन बच्चों व परिजनों के नाम दर्ज करने के लिए पूछना शुरू कर दिया। परिजनों ने नाम बताने से इंकार कर दिया। आरोप है कि कुछ लोगों ने टीम से अभद्र भाषा का प्रयोग किया। दो युवकों ने दीपक का गिरेबां पकड़ लिया। पोलियो वैक्सीन और सरकारी दस्तावेज छीन लिए। स्टाफ नर्स नीतू को कमरे में बंद कर दिया। इस बीच मौके पर भीड़ जमा हो गई। भीड़ ने पल्स पोलियो टीम से कहा कि तुम एनपीआर टीम वाले हो। आज तुम्हें नहीं छोड़ेंगे। भीड़ ने सरकार के खिलाफ नारे लगाने शुरू कर दिए। मामला बढ़ता चला गया। इस बीच एक युवक ने फोन कर और लोगों को भी जुटा लिया।

हंगामे के बीच स्वास्थ्य विभाग की टीम के दोनों सदस्यों ने अपने परिचय पत्र दिखाए। बावजूद इसके भीड़ कुछ सुनने को तैयार नहीं थी। जैसे-तैसे दीपक ने प्रभारी चिकित्साधिकारी को फोन कर घटनाक्रम की जानकारी दी। लखीपुरा यूपीएचसी के प्रभारी चिकित्साधिकारी डॉ. कदीर अहमद खान अपनी टीम के साथ मौके पर पहुंचे। डब्लूएचओ की फील्ड मॉनीटर भी घटनास्थल पर आ गईं। टीम ने भीड़ को समझाया कि वे स्वास्थ्य विभाग से हैं। पोलियो वैक्सीन पिला रहे हैं। इससे जुड़े सुबूत भी दिखाए।

टीम के मुताबिक, इमरान नामक शख्स ने भीड़ को उकसाया। वह स्कूल संचालक है। उसने स्वास्थ्य टीम को जान से मार डालने और शहर में दंगा कराने तक की धमकी दे डाली। मामला बढ़ता देख स्वास्थ्य विभाग की टीम जैसे-तैसे वहां से निकलकर समर गार्डन पुलिस चौकी पर पहुंची। स्टाफ नर्स ने छेड़छाड़, बंधक बनाने, सरकारी कार्य में बाधा डालने, डकैती, मारपीट जैसी गंभीर धाराओं में इमरान और अज्ञात भीड़ के खिलाफ थाना लिसाड़ी गेट में मुकदमा दर्ज कराया है।

- रजबन की एएनएम गुलिस्ता लखीपुरा गली-27 में टीकाकरण करने गई थीं। उन्हें भीड़ ने एक कमरे में बंद कर लिया। डॉ. विकास शर्मा और अन्य स्टाफ ने पहुंचकर बंधनमुक्त कराया।

- 16 जनवरी 2020 को एएनएम राखी से भी इसी इलाके में गाली-गलौज की गई। लोगों ने टीकाकरण से मना कर दिया।

- एएनएम रानू लखीपुरा में टीकाकरण कर रही थीं। कुछ लड़के उनका मोबाइल छीनकर भाग गए। पुलिस ने यह मोबाइल बरामद कराया।

- लखीपुरा यूपीएचसी के प्रभारी चिकित्साधिकारी डॉ. कदीर अहमद के साथ लखीपुरा के मदरसे में एक मौलवी ने अभद्र भाषा का प्रयोग किया।

प्रभारी चिकित्साधिकारी डॉ. कदीर अहमद के मुताबिक, लखीपुरा इलाके में करीब डेढ़ हजार बच्चे ड्रॉपआउट हैं जो पोलियो वैक्सीन नहीं पी रहे। टीम जब भी इन घरों में दवा पिलाने जाती है तो विरोध होता है। ऐसी स्थिति में पोलियो टीम ने लखीपुरा इलाके में जाने से मना कर दिया है। कहा गया है कि भविष्य में यदि टीम लखीपुरा जाएगी तो पहले पुलिस को सूचित करेगी। थाना लिसाड़ी गेट इंस्पेक्टर प्रशांत कपिल ने कहा कि पल्स पोलियो टीम को बंधक बनाकर पिटाई करने के मामले में इमरान व कुछ अज्ञात के खिलाफ गंभीर धाराओं में केस दर्ज कर लिया है। आरोपियों की गिरफ्तारी के प्रयास किए जा रहे हैं।

Tags:    

Swadesh Digital ( 0 )

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Next Story
Share it
Top