Home > राज्य > उत्तरप्रदेश > अन्य > लाल, नीले व हरे रंग के मिलने पर भाजपा को याद आने लगे आंबेडकर : अखिलेश

लाल, नीले व हरे रंग के मिलने पर भाजपा को याद आने लगे आंबेडकर : अखिलेश

लाल, नीले व हरे रंग के मिलने पर भाजपा को याद आने लगे आंबेडकर : अखिलेश

अयोध्या। समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने कहा कि सपा बसपा रालोद गठबंधन से भाजपा भयभीत है। यह लाल, नीले और हरे रंग के मिलने का ही कमाल है कि प्रधानमंत्री मोदी को बाबा साहब आंबेडकर और डॉ राम मनोहर लोहिया याद आने लगे। झूठे वादे और साजिश कर सत्ता हासिल करने वाली भाजपा को बाबा साहब और लोहिया से कोई लेना देना नहीं है। देश और संविधान को बचाने के लिए चौकीदार को हटाना है। जनता केंद्र के पांच साल और प्रदेश के दो साल के कार्यकाल का आंकलन करेगी।

वह शुक्रवार को पार्टी उम्मीदवार आनंद सेन यादव के पक्ष में शहर के ऐतिहासिक गुलाब बाड़ी मैदान में महागठबंधन की रैली को संबोधित कर रहे थे। श्री यादव ने कहा कि पूरे प्रदेश में महागठबंधन की आंधी चल रही है। भाजपा को नारे लगाने के लिए लोग नहीं मिल रहे। पीएम मोदी की सभा में उत्साह नहीं दिखा। पीएम मोदी पर तंज कसते हुए कहा कि उनके महागठबंधन को मिलावटी कहा जा रहा है। जनता से सवाल किया कि जब सपा बसपा और रालोद तीन दलों का गठबंधन मिलावटी है तो उनके 38 दलों का गठबंधन क्या कहा जाएगा?

अखिलेश यादव ने कार्यकर्ताओं को चेताया कि इनके इस साजिश से चौकन्ना रहना होगा। ये घबराए हुए हैं। उन्होंने कहा कि किसानों, नौजवानों, मजदूरों का समय सभी वर्गों के लिए भाजपा ने बड़े-बड़े वादे किए थे। अच्छे दिन आने थे लेकिन अच्छे दिन नहीं आए। नोट बंदी से आतंक और भ्रष्टाचार रोकना था, लेकिन दोनों ही बढ़ गया। दो करोड़ नौकरियों का वादा तो नहीं पूरा हुआ बल्कि जीएसटी से रोजगार भी छिन गए।

प्रदेश सरकार पर हमला बोलते हुए उन्होंने कहा कि भाजपा ने अयोध्या को धोखा दिया। बाबा सीएम अपने पुष्पक विमान से भगवान राम लक्ष्मण और माता सीता को लेकर आए थे। घी का दीपक जलाने की बात कह कर न जाने किस सरसों के तेल से दिया जला दिया। उन्होंने कहा कि वह भी अपने पुष्पक विमान से तीनों को लाना चाहते थे लेकिन सीट ना होने के चलते ऐसे ना कर सके। भविष्य में भाजपा के इन भगवानों को लाएंगे और आशीर्वाद लेंगे। सपा सुप्रीमो ने अपने मंच पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के हमशक्ल को प्रस्तुत किया। कहा कि यह गोरखपुर जाना चाहते थे मैं अयोध्या ले आया। बताया कि हेलीकॉप्टर उतरने पर पुलिसकर्मी बाबा सीएम के हमशक्ल की सुरक्षा मैं दौड़ पड़े।

अयोध्या में कराये गये कामों को बताया

अखिलेश यादव ने कहा कि पहले भी सपा ने अयोध्या फैजाबाद के विकास के लिए बहुत पैसा दिया और फिर सरकार में आने पर इसे वर्ल्ड क्लास सिटी बनाएंगे। महत्वाकांक्षी अंतरराष्ट्रीय स्तर के भजन संध्या स्थल का काम पूरा न हो पाने पर चिंता जताई। परिक्रमा मार्ग गाने और किनारे धार्मिक पौधों को लगाने की बात गिनाई। बिजली आपूर्ति पर तंज कसते हुए कहा कि अंडरग्राउंड केबल सपा सरकार ने कराया।

दिलों को जोड़ने की कोशिश की

मंच से अखिलेश यादव ने सपा बसपा कार्यकर्ताओं के दिलों को जोड़ने कोशिश की। आजादी के बाद बाबा साहब और डॉक्टर लोहिया साथ साथ काम करना चाहते थे लेकिन हालात ऐसे न बने। इस मिशन को कांशीराम और नेता मुलायम सिंह ने आगे बढ़ाया। वर्तमान दौर में देश और संविधान को बचाने के लिए सपा बसपा का साथ हुआ और बाबा साहब तथा लोहिया की सोच आगे बढ़ी। जिसका परिणाम भी गोरखपुर फूलपुर और कैराना के उपचुनाव में दिखाई दिया।

जनसभा में लोकसभा चुनाव प्रभारी व पूर्व मंत्री राम मूर्ति वर्मा, अवधेश प्रसाद जिला अध्यक्ष सपा गंगा सिंह यादव, महानगर अध्यक्ष मोहम्मद कमर, पूर्व विधायक जय शंकर पांडे, तेज नारायण पांडे अभय सिंह अब्बास अली जैदी, राहुल सिंह कल्याण दास बसपा जिलाध्यक्ष समेत हजारों कार्यकर्ता मौजूद रहे।

Tags:    

Swadesh Digital ( 8810 )

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Share it
Top