Home > राज्य > उत्तरप्रदेश > अन्य > कांग्रेस की गलत नीतियों के कारण हुआ बीएसपी का गठन : मायावती

कांग्रेस की गलत नीतियों के कारण हुआ बीएसपी का गठन : मायावती

कांग्रेस की गलत नीतियों के कारण हुआ बीएसपी का गठन : मायावती

हरदोई। कांग्रेस ने लंबे अरसे तक राज करने के बाद भी गरीबी व बेरोजगारी नहीं दूर की, जिसके कारण बीएसपी का गठन किया गया। हरदोई जिला काफी पिछड़ा है। कांग्रेस सरकार की गलत नीतियों के कारण व रोजी-रोटी के साधन उपलब्ध न होने के कारण जनता को रोजगार के लिए बाहर पलायन करना पड़ता है। ये बातें पूर्व मुख्यमंत्री व बसपा प्रमुख मायावती ने मिश्रिख लोकसभा क्षेत्र बालामऊ भीरी घाट में आयोजित जनसभा काे संबोधित करते हुए कहीं।

बसपा मुखिया ने कहा कि वर्तमान सरकार भारतीय जनता पार्टी के अच्छे दिन आ गए लेकिन आम-जनमानस के अच्छे दिन अभी तक नहीं आये। बीजेपी व आरएसएस पार्टी जातिवादी, पूंजीवादी, सांप्रदायिक पार्टी यह जल्दी ही कांग्रेस की तरह बाहर चली जाएगी। उन्होंने कहा कि जनता इनकी जुमलेबाजी को अच्छी तरह समझ चुकी है। इनकी सरकार में सभी वर्ग परेशान रहे हैं। इन्होंने केवल पूंजी वादियों को लाभ दिया है। किसानों के सामने विभिन्न प्रकार की समस्याओं के कारण किसान पूरी तरह से टूट चुका है। छुट्टा आवारा पशुओं के कारण किसान बर्बाद हो चुका है। सरकारी नौकरियों में दलितों के लिए आरक्षण खत्म करने की योजना है। उन्होंने कहा कि नोटबंदी व जीएसटी के कारण बेरोजगारी में इजाफा हुआ है, जिसका अर्थव्यवस्था पर बुरा असर पड़ा है। वर्तमान सरकार में भ्रष्टाचार चरम सीमा पर रहा है।

उन्होंने कहा कि हमारी प्राथमिकता समाज के दबे कुचले लोगों को मुख्यधारा से जोड़ने की है। पूर्व विधानसभा चुनावों में ईवीएम मशीन में बड़े पैमाने पर गड़बड़ी के कारण काफी उम्मीदवार हार गए थे, जबकि पूर्व में बैलेट पेपर से चुनाव होने के कारण हरदोई की सभी विधानसभाओं में बीएसपी पार्टी की विजय हुई थी। इस जनसभा में मायावती ने गठबंधन के दोनों उम्मीदवारों मिश्रिख प्रत्याशी डॉ. नीलू सत्यार्थी व हरदोई की प्रत्याशी उषा वर्मा को इस जनसभा के माध्यम से जिताने की अपील की।

इस जनसभा में बसपा सुप्रीमो मायावती के भतीजे आकाश आनंद, सतीश चंद्र मिश्रा, सांसद भीम राव अम्बेडकर, जोनल इंचार्ज अखिलेश अंबेडकर, मिश्रिख प्रत्याशी डॉ. नीलू सत्यार्थी, हरदोई प्रत्याशी ऊषा वर्मा, पूर्व कैबिनेट मंत्री अब्दुल मन्नान आदि मौजूद रहे।

Tags:    

Swadesh Digital ( 8841 )

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Share it
Top