Home > राज्य > उत्तरप्रदेश > मथुरा > जिलाधिकारी ने किया मिशन इन्द्र धनुष अभियान का शुभारम्भ

जिलाधिकारी ने किया मिशन इन्द्र धनुष अभियान का शुभारम्भ

ग्राम स्वराज अभियान के अन्तर्गत जनपद मथुरा के लिये भारत सरकार द्वारा चिन्हित प्रधानमंत्री के प्राथमिक बिन्दु के समस्त ग्राम एवं प्रदेश सरकार द्वारा चिन्हित किये गये समस्त ग्रामों में विशेष सघन मिशन इन्द्र धनुष अभियान के तृतीय चरण का आयोजन 18 जून से 22 जून तक किया जा रहा है।

जिलाधिकारी ने किया मिशन इन्द्र धनुष अभियान का शुभारम्भ

मथुरा। ग्राम स्वराज अभियान के अन्तर्गत जनपद मथुरा के लिये भारत सरकार द्वारा चिन्हित प्रधानमंत्री के प्राथमिक बिन्दु के समस्त ग्राम एवं प्रदेश सरकार द्वारा चिन्हित किये गये समस्त ग्रामों में विशेष सघन मिशन इन्द्र धनुष अभियान के तृतीय चरण का आयोजन 18 जून से 22 जून तक किया जा रहा है। कार्यक्रम के सफल संचालन हेतु सोमवार को जिलाधिकारी सर्वज्ञराम मिश्र ने सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र राल के ग्राम अगनपुरा में प्रात: 9:15 बजे टीकाकरण सत्र का उदघाटन किया।

मुख्य चिकित्साधिकारी ने निर्देशित किया कि समस्त एएनएम समय से सत्र स्थल पर उपस्थित हो और समय से सत्र को समाप्त करें। उन्होंने कहा कि सत्र माइक्रोप्लान में नियत किये गये स्थान पर ही आयोजित किया जाना चाहिये। सत्र दिवस से एक दिन पूर्व बुलावा पर्ची लाभार्थी के घरों पर भिजवा दी जाय। प्रत्येक ग्राम के लिये एक नोडल अधिकारी नामित किया गया है। उन्होंने बताया कि नोडल अधिकारी का पूर्ण उत्तरदायित्व होगा कि ग्राम में शतप्रतिशत लक्ष्य की प्राप्ति की जाये एवं प्रत्येक सत्र का शतप्रतिशत पर्यवेक्षण किया जाये। जिलाधिकारी ने निर्देशित किया किया है कि शतप्रतिशत लक्ष्य की प्राप्ति की जाये अन्यथा की स्थिति में सम्बन्धित चिकित्सा अधीक्षक, चिकित्साधिकार, एआरओ, आईओ, बीपीएम, पर्यवेक्षक, एचएचबी, एएनएम के विरूद्ध कठोर कार्यवाही अमल में लायी जायेगी।

इसके साथ ही मुख्य चिकित्साधिकारी, जिला प्रतिरक्षण अधिकारी द्वारा प्रात: 9.45 बजे संयुक्त रूप से सामु0 स्वा केन्द्र राल के ग्राम नगला ग्यासी का निरीक्षण किया गया। उन्होंने निरीक्षण के दौरान पाया कि क्षेत्र में ड्यू लिस्ट के अनुसार टीकारण नहीं किया जा रहा था। उन्होंने बताया कि एएनएम के पास वेईग मशीन, बीपी एप्रेटस भी उपलब्ध नहीं थे जिस पर मुख्य चिकित्साधिकारी द्वारा कड़ी नाराजगी व्यक्त की गयी एवं अन्तिम चेतावनी देते हुए निर्देशित किया कार्य में सुधार लायें अन्यथा की स्थिति में सम्बन्धित कर्मचारी के विरूद्ध कम्पलसरी रिटायरमेंट के लिये महानिदेशक, परिवार कल्याण, महानिदेशालय उप्र लखनऊ को संस्तुति कर दी जायेगी। निरीक्षण के समय श्रीमती प्रतिभा एएनएम, श्रीमती बिरजो अग्रवाल उपस्थित थी। कार्यक्रम में मुख्य चिकित्साधिकारी डा0 शेर सिंह, प्रतिरक्षण अधिकारी डा0 राजीव गुप्ता, मथुरा विश्व स्वास्थ्य संगठन से एसएमओ डा. सुरभि कौल एवं यूनीसेफ से मानवेन्द्र सिंह तथां एएनएम, आशा, आंगनवाडी उपस्थित थी।




Swadesh Digital ( 0 )

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Share it
Top