Home > राज्य > उत्तरप्रदेश > मथुरा > जीएलए के दो शिक्षकों को मिली अन्तर्राष्ट्रीय उपलब्धि

जीएलए के दो शिक्षकों को मिली अन्तर्राष्ट्रीय उपलब्धि

जीएलए विश्वविद्यालय के प्रबंधन विभाग के दो शिक्षकों प्रो. अरूणा धमीजा एवं कृष्णवीर सिंह का चयन

जीएलए के दो शिक्षकों को मिली अन्तर्राष्ट्रीय उपलब्धि

मथुरा । जीएलए विश्वविद्यालय के प्रबंधन विभाग के दो शिक्षकों प्रो. अरूणा धमीजा एवं कृष्णवीर सिंह का चयन सेंट्रल यूरोपियन यूनिवर्सिटी द्वारा बुडापेस्ट हंगरी में यूरोपियन एनवार्नमेंटल एजेंसी के संयुक्त तत्वावधान में आयोजित होने वाले अन्तर्राष्ट्रीय स्तर के प्रोग्राम द प्रकॉशनरी प्रिंसिपल: इन सस्टेनेबलिटी ट्रांजिशन ''थिंकिंग फॉरवर्ड, लुकिंग बैकवर्ड, एक्टिंग हेतु हुआ है एवं उन्हें इस हेतु सेंट्रल यूरोपियन समर यूनिवर्सिटी द्वारा प्रतिष्ठित स्कॉलरशिप भी प्रदान की गयी है।

द प्रकॉशनरी प्रिंसिपल: इन सस्टेनेबलिटी ट्रांजिशन ''थिंकिंग फॉरवर्ड, लुकिंग बेकवर्ड, एक्टिंग' प्रोग्राम के बारे में जानकारी देते हुए दोनों चयनित शिक्षकों ने बताया कि इस स्कॉलरशिप प्रोग्राम के चयन की प्रक्रिया अत्यंत कठिन थी, जिसमें आवेदन पत्र आमंत्रित करने के पश्चात प्रतिभागियों के अनुभव एवं योग्यता के आधार पर यूरोपियन यूनिवर्सिटी के विशेषज्ञों द्वारा अंतिम चयन कर स्कॉलरशिप प्रदान की जाती है। उन्होंने बताया कि इस प्रोग्राम का आयोजन यूरोप के बुडापेस्ट हंगरी में सेंट्रल यूरोपियन समर यूनिवर्सिटी परिसर में जून के अंतिम सप्ताह में होगा।

इस प्रोग्राम के माध्यम से जहां प्रो. धमीजा एवं कृष्णवीर सिंह को एक ओर सस्टेनेबिलिटी प्रिंसीपल्स जैसे महत्वपूर्ण विषय पर अपने विचार रखने का अवसर मिलेगा वहीं दूसरी ओर अन्य देशों से आये प्रतिभागियों के साथ मिलकर सस्टेनेबिलिटी प्रिंसीपल्स के क्षेत्र में एक संयुक्त विचारधारा कायम करने की राह भी आसान होगी। इस प्रोग्राम के निदेशक ईवा जीडियॉन, हंगरी, बुडापेस्ट के अन्तर्राष्ट्रीय विशेषज्ञ हैं। जिनके साथ-साथ आयरलैंड, फ्रांस, डेनमार्क, लंदन, बेल्जियम तथा कोपेनहेगन के विभिन्न विषय विशेषज्ञ भी अपना-अपना योगदान देंगे।

जीएलए विश्वविद्यालय की प्रो. अरूणा धमीजा एवं कृष्णवीर सिंह को मिली इस उपलब्धि पर सेक्रेटरी सोसायटी एवं कोषाध्यक्ष नीरज अग्रवाल ने हर्ष व्यक्त करते हुए कहा कि विश्वविद्यालय अब अन्तर्राष्ट्रीय पटल पर अपनी ठोस उपस्थिति दर्ज करा रहा है। उन्होंने कहा कि विश्वविद्यालय प्रतिष्ठित अन्तर्राष्ट्रीय संगठनों के साथ सामंजस्य स्थापित कर आगे बढ़ेगा।




Swadesh Digital ( 0 )

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Share it
Top