Home > राज्य > उत्तरप्रदेश > लखनऊ > सीबीआई ने विधायक सेंगर के 17 ठिकानों पर मारे छापे

सीबीआई ने विधायक सेंगर के 17 ठिकानों पर मारे छापे

- ट्रक मालिक देवेंद्र किशोर पाल सीबीआई के सामने पेश होकर बोला, मैं बेकसूर हूं

सीबीआई ने विधायक सेंगर के 17 ठिकानों पर मारे छापेFile Photo

लखनऊ। उन्नाव दुष्कर्म कांड की पीड़ित युवती के कार सड़क हादसे की जांच कर रही सीबीआई की टीम ने रविवार को भाजपा विधायक कुलदीप सिंह सेंगर के आवास समेत 17 ठिकानों पर छापेमारी की है। इसके अलावा सीबीआई की टीम ने सेंगर और ट्रक मालिक से पूछताछ करेगी।

सीबीआई की टीम ने उन्नाव के भाजपा विधायक कुलदीप सिंह सेंगर के आवास उन्नाव के माखी गांव पर रविवार की सुबह छापेमारी की है। इसके अलावा लखनऊ, उन्नाव, बांदा, फतेहपुर समेत कई ठिकानों पर सीबीआई की छापेमारी की कार्रवाई जारी है। माखी गांव, थाना और पीड़िता के साथ ही वकील के घर आसपास लोगों से पूछताछ की है। सीबीआई को आशंका है कि रायबरेली सड़क दुर्घटना में अन्य कई लोग भी शामिल हो सकते हैं। सीबीआई की टीम ने इस मामले से जुड़े ट्रक मालिक, ट्रक ड्राइवर और क्लीनर से भी पूछताछ करेगी। सूत्रों की माने तो सीबीआई ने कई अहम दस्तावेजों को कब्जे में लिया है। इसके साथ ही सीतापुर जेल में कुलदीप सिंह सेंगर से मिलने वाले लोगों की सूची और वीडियो तलब किया है।

उन्नाव रेप पीड़िता के साथ रायबरेली में हुए सड़क हादसे का आरोपित ट्रक मालिक देवेंद्र किशोर पाल रविवार को सीबीआई के सामने पेश हुआ। सीबीआई दफ्तर पहुंचे ट्रक मालिक देवेंद्र किशोर ने कहा, मैं बेकसूर हूं और मेरा विधायक कुलदीप सेंगर या उसके किसी परिचित से कोई वास्ता नहीं है। देवेंद्र किशोर ने कहा कि मैं पीड़िता या उसके परिवार को भी नहीं जानता हूं। ट्रक मालिक ने कहा कि यह मुझे फंसाने की साजिश है। मैं सीबीआई की जांच में पूरा सहयोग करने के लिए तैयार हूं। उसने ट्रक के नंबर को ब्लैक करने के सवाल पर सीबीाई से कहा कि सीजर की कार्रवाई से बचने के लिए ट्रक के नंबर को ब्लैक कराया गया था।मामले की जांच कर रही सीबीआई ने शनिवार को फोन करके ट्रक के मालिक को पूछताछ के लिए तलब किया था जिसके बाद वह फतेहपुर से लखनऊ सीबीआई दफ्तर पहुंचा।

उल्लेखनीय है कि बीते 30 जुलाई को रायबरेली में उन्नाव दुष्कर्म पीड़ित युवती की कार और ट्रक की भिड़न्त हुई। इसमें पीड़ित की चाची-मौसी की मौत हो गई थी। पीड़ित और उसके अधिवक्ता का इलाज लखनऊ के ट्रामा सेंटर में चल रहा है। डॉक्टरों की मुताबिक, अधिवक्ता की हालत में कुछ सुधार है लेकिन पीड़ित की युवती की हालत अभी जस की तस बनी हुई है। इसके अलावा उसे निमोनिया भी हो गया है।

Tags:    

Swadesh Digital ( 0 )

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Share it
Top