Home > टेक अपडेट > यह है दुनिया का सबसे छोटा कैमरा, जानें इसके उपयोग

यह है दुनिया का सबसे छोटा कैमरा, जानें इसके उपयोग

यह है दुनिया का सबसे छोटा कैमरा, जानें इसके उपयोग

नई दिल्ली। इमेज सेंसर की बात करते ही हमारा ध्यान स्मार्टफोन पर जाता है। लेकिन फोन के कैमरों से इंसान से शरीर के भीतर नहीं झांका जा सकता है। यहीं से ओम्नी विजन टेक्नोलॉजी का काम शुरू होता है। इस कंपनी ने न सिर्फ आधुनिक डिजिटल इमेजिंग सॉल्यूशन तैयार किया है बल्कि आधिकारिक रूप से उपलब्ध सबसे छोटा इमेज सेंसर बनाने का रिकॉर्ड भी हासिल किया है। इस इमेज सेंसर का आकार 0.575मिलीमीटर x 0.575मिलीमीटर है।

कंपनी के मुताबिक, ओम्नी विजन ने ये इनोवेटिव मेडिकल इमेज तकनीक बेहतर एनाटमी ऐक्सेस की जरूरत के चलते बढ़ती मांग को देखते हुए मार्केट में उतारा है। इस इमेज सेंसर का इस्तेमाल कई चुनौतीपूर्ण मेडिकल कंडीशंस में बार-बार इस्तेमाल किए जा सकने वाले डिजिटल टूल की तरह किया जा सकता है। कंपनी की ओर से कहा गया है कि ऐसे टूल हाई-मेटिनेंस कॉस्ट और रिस्क के चलते बहुत महंगे होते हैं और इनसे हर बार सही परिणाम नहीं मिलते।

नए सेंसर का नाम ओवी6948 है और इसका आकार किसी रेत के कण जितना है। इस सेंसर की मदद से 200x200 या 40 के पिक्सल की बैकसाइट-एल्युमिनेटेड रेजोल्यूशन वाली फोटो क्लिक की जा सकती हैं और इसकी मदद से शरीर की पतली से पतली नस या अंदरूनी हिस्से में उम्दा स्तर की पिक्चर क्लिक की जा सकती है। इसका इस्तेमाल न्यूरो, ऑप्थालमिक, ईएनटी, कार्डियक, स्पाइनल, यूरॉलजी, गायनकॉलजी और ऑर्थोस्कोपी के लिए किया जा सकता है।

सेंसर के बाकी की फीचर की बात करें तो इसका कैमरा मॉड्यूल वाइड 120 डिग्री फील्ड ऑफ व्यू देता है और इसकी फोकस रेंज 3एमएम से लेकर 30एमएम तक बढ़ाई जा सकती है। इसका इमेज एरे 200x200 की तस्वीरें और वीडियो 30 फ्रेम्स प्रति सेकेंड पर कैद कर सकता है। साथ ही इसका एनालॉग आउटपुट कम से कम नॉइस के साथ 4 मीटर तक आउटपुट ट्रांसमिट कर सकता है। यह कैमरा सेंसर 25mW बहुत कम पावर कंजप्शन करता है और लंबे मेडिकल सेशंस के दौरान यह ज्यादा गर्म भी नहीं होता, जिससे पेशेंट पूरी तरह कंफर्टेबल रहे।

Tags:    

Swadesh Digital ( 0 )

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Share it
Top