Home > राज्य > उत्तरप्रदेश > युवती की आबरू लूटने के आरोपी SDM की गिरफ्तारी के लिए टीमें गठित

युवती की आबरू लूटने के आरोपी SDM की गिरफ्तारी के लिए टीमें गठित

युवती की आबरू लूटने के आरोपी SDM की गिरफ्तारी के लिए टीमें गठित

झाँसी। शादी का झांसा देकर युवती को प्रेमजाल में फंसा कर उसकी आबरू लूटने वाले एसडीएम की गिरफ्तारी के लिए एसएसपी ने पुलिस टीमें गठित कर दी है। पुलिस टीमें लगातार एसडीएम की गिरफ्तारी के लिए प्रयास कर रही है। पुलिस के अनुसार जल्द ही पुलिस टीम को सफलता मिलेगी। मालूम हो कि जिला जालौन निवासी युवती ने चित्रकूट में तैनात एसडीएम सौजन्य कुमार के खिलाफ 7 माह पूर्व थाना नवाबाद में बलात्कार करने का आरोप लगाते हुए रिपोर्ट दर्ज कराई थी। युवती का आरोप था कि एसडीएम ने अपनी जिला जालौन में तैनाती के दौरान उसे अपने झाँसे में फंसा लिया और उससे शादी करने का प्रलोभन देकर कई बार झाँसी के कई होटल्स में उसकी आबरू से खिलबाड़ किया और मोबाइल से वीडियो क्लिप भी बना ली। कई सालों तक उसके उसकी आबरू से खेल रहे एसडीएम को जब युवती ने शादी करने की बात कही तो एसडीएम ने उससे शादी करने से इंकार कर दिया। युवती ने खोजबीन की तो पता चला एसडीएम पहले से शादी शुदा था और उसके बच्चे भी थे। वह युवती को धोखा देकर उसकी आबरू से खिलबाड़ कर रहा था। युवती की शिकायत पर नवाबाद पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर विवेचना शुरू कर दी। वही एसडीएम मुकदमा दर्ज होने के बाद अपनी तैनाती स्थान चित्रकूट से गैर हाजिर हो गए। इधर इस मुकदमे की विवेचना कर रहे सीपरी थाने में तैनात इंस्पेक्टर अनिल कुमार ने न्यायालय के आदेश पर अपनी टीम के साथ एसडीएम के आवास चित्रकूट व आगरा में कुर्की नोटिस चस्पा कर दिया था। इसके बाद भी बलात्कार के मामले का आरोपी एसडीएम फरार चल रहा। एसडीएम की गिरफ्तारी के लिए एसएसपी झांसी डॉ. ओपी सिंह ने एसपी सिटी के नेतृत्व में सीओ सिटी अभिषेक राहुल,नवाबाद प्रभारी निरीक्षक संजय सिंह,सर्वलान्स प्रभारी विजय पांडे,सीपरी थाने में तैनात इंस्पेक्टर अनिल कुमार की एक टीम गठित की है। गठित की गई टीमें लगातार आरोपी की गिरफ्तारी के लिए प्रयास कर रही है।

इसके पूर्व युवती द्वारा एसडीएम के खिलाफ नबाबाद थाने धोखा देकर बलात्कार व वीडियो फिल्म बनाने का मुकदमा दर्ज कराया था। बलात्कार का मामला दर्ज होने के कुछ दिन बाद ही एसडीएम की पत्नी ने कर्वी थाने में रेप पीडि़ता के खिलाफ फर्जी मुकदमा दर्ज कराने की धमकी देकर रंगदारी मांगने का आरोप लगाते हुए कर्वी थाने में पीडि़ता के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कराई थी। इस प्रकरण की विवेचना जिला ललितपुर को सौंपी गई थी। एसपी ललितपुर ने रंगदारी के पीडि़ता पर लगे आरोप के मुकदमे की विवेचना सीओ तालबेहट देवेंद्र सिंह को सौंपी है। सूत्र बताते है कि विवेचना कर रहे सीओ तालबेहट ने पीडि़ता(आरोपी एसडीएम की पत्नी) व आरोपी रेप पीडि़ता युवती के बयान दर्ज कर लिए है। साथ ही एक ऑडियो भी बरामद की है जिसकी सच्चाई जानने के लिए उसे फोरेंसिंक लैब भेजा जा रहा है।

Tags:    

Swadesh News ( 0 )

Swadesh Digital contributor help bring you the latest article around you


Share it
Top