Home > राज्य > उत्तरप्रदेश > द ब्रज फाउंडेशन के खिलाफ ग्रामीणों ने डीएम का कार्यालय घेरा, जमीन कब्जाने के गंभीर आरोप

द ब्रज फाउंडेशन के खिलाफ ग्रामीणों ने डीएम का कार्यालय घेरा, जमीन कब्जाने के गंभीर आरोप

द ब्रज फाउंडेशन के खिलाफ ग्रामीणों ने डीएम का कार्यालय घेरा, जमीन कब्जाने के गंभीर आरोप

ब्रज में विकास कार्य और कुडों का जीर्णोद्धार करने का दावा करने वाले द ब्रज फाउंडेशन के खिलाफ ग्रामीणों ने मोर्चा खोल दिया है सोमवार को गोवर्धन, चैमुहां, रिफाइनरी के करीब 50 किसानों ने डीएम कार्यालय का घेराव किया। उन्होंने ब्रज फाउंडेशन के खिलाफ लिखित शिकायत दी है कि कोयला अलीपुर और गोवर्धन क्षेत्र में कुंडों के निर्माण कार्य में न सिर्फ धांधली की गई है बल्कि ग्राम पंचायत और लोगों की निजी जगह पर अवैध कब्जे किए गए हैं। इस दौरान लोगों ने यह भी आरोप लगाया कि गांव कोयला में बनाए गए वासुदेव कुंड में ग्राम प्रधान की निधि और रिफाइनरी से भी कुंड के विकास के नाम पर धन लिया गया है। सुनरख बांगर में भी अवैध रूप से जमीन अधिकृत करने का आरोप लगाया है। राधा कुंड में भी ऋण मोचन कुंड के निर्माण में अवैध रूप से जमीन अधिकृत करने के आरोपों के साथ ही उनकी शिकायतों को दबाने के गंभीर आरोप लगे है। किसानों का कहना है जब उन्होंने बसपा, सपा सरकार के दौरान ब्रज फाउंडेशन के खिलाफ शिकायत की गई लेकिन उन्हें न्याय नहीं मिला।

डा. सुब्रमण्यम स्वामी ने सीएम से की थी शिकायत

मथुरा। एनजीओ द ब्रज फाउंडेशन द्वारा ब्रज के विकास और कुडों के कराए गए जीर्णोद्वार में जमकर घोटाला हुआ। इन कुंडों के विकास के नाम पर देश के उद्योगपतियों से उघाई की गई, नियमों को ताक पर रखकर ग्राम प्रधानों से सांठगांठ करके सरकार की मंशा के विपरीत इनका विकास किया गया। ये गंभीर आरोप भाजपा के फायर ब्रांड नेता डा. सुब्रमण्यम स्वामी ने लगाए, शिकायत के साथ सीएम के सामने तथ्य भी पेश किए गए। मामले पर सीएम ने डीएम को पूरे मामले की जांच के आदेश दे दिए।

पत्र में ब्रज फाउंडेशन द्वारा ब्रज क्षेत्र के लिए तैयार किए गए मास्टर प्लाॅन की एवज में मथुरा वृंदावन विकास प्राधिकरण से 57.65 लाख के भुगतान लेने के बाद भी उक्त कार्य को पूरा न करने की बात कही गई। मथुरा के गोवर्धन में रूद्र कुंड, संकर्षण कुंड, ऋणमोचन कुंड, जैंत में जयकुंड, बाद में कृष्ण सरोवर, सुनरख में रामताल कुंड सहित कुल आठ कुुंडों के जीर्णोद्धार में बड़े घालमेल के दस्तावेज सौंपे गए और राष्ट्रीय हरित प्राधिकरण के आदेश का हवाला दिया गया। ब्रज के विकास में इतने बड़े घोटाले और दस्तावेजों को देख सीएम योगी भी गंभीर हो गए। उन्होंने इस पूरे मामल की जांच मथुरा के डीएम सर्वज्ञराम मिश्रा को सौंप दी। लेकिन एजनीओ संचालक विनीत नारायण ने पूरे मामले को ही दबवा दिया।

स्वदेश मथुरा ( 0 )

Swadesh Digital contributor help bring you the latest article around you


Share it
Top