Home > राज्य > अन्य > बेरोजगार युवकों को बनाया जा रहा है निशाना, जानें

बेरोजगार युवकों को बनाया जा रहा है निशाना, जानें

बेरोजगार युवकों को बनाया जा रहा है निशाना, जानें

नई दिल्ली। झारखंड राज्य में झुमरा रेंज के नक्सली 'अमेजन किंडल टैब' के जरिए सुदूरवर्ती क्षेत्र के युवाओं को नक्सलवाद से जोड़ने में लगातार जुटे हैं। नक्सल प्रभावित पहाड़ी और जंगली इलाकों के बेरोजगार युवकों को निशाना बनाकर प्रशिक्षण के नाम पर अमेजन किंडल टैब के जरिए मोटिवेशनल किताबें पढ़ाकर नक्सलवाद की ओर उन्मुख किया जा रहा है। नक्सल इन्वेस्टिगेशन सेल की जांच में इस बात का खुलासा हुआ है।

हम आपको बता दें कि बीती छह अप्रैल को बोकारो के नक्सल प्रभावित जगेश्वर विहार थाना क्षेत्र के असनापानी जंगल से सीआरपीएफ के साथ पुलिस ने भारी मात्रा में हथियार और विस्फोटक के अलावा दो अमेजन किंडल टैब बरामद किए थे। बरामदगी के बाद नक्सल इन्वेस्टिगेशन सेल की जांच में ये तथ्य सामने आए हैं कि नक्सली टैब का इस्तेमाल नक्सलवाद के प्रति मोटिवेशन के लिए कर रहे हैं।

इससे पहले भी झुमरा रेंज में नक्सलियों की मांद से विस्फोटकों के साथ अमेरिकी मूल के लेखक ओरिसन स्वेट मार्डन की लिखी किताब 'भागो नहीं दुनिया बदल दो' बरामद की गई थी। जांच में उस वक्त भी ये तथ्य सामने आए थे कि नक्सली खुद की हताशा दूर करने के साथ जोश भरने और व्यक्तित्व विकास के लिए मोटिवेशनल किताबों का सहारा ले रहे हैं।

अमेजन किंडल टैब में दुनिया के लगभग तमाम लेखकों की किताबों का संग्रह है, जिनमें हजारों मोटिवेशनल किताबें हैं, जो लोगों को हताशा से बाहर निकाल कर जुझारू बनने में प्रेरक साबित हो रही हैं। इस उद्देश्य की पूर्ति के लिए झुमरा रेंज के नक्सली किंडल टैब में संग्रहित ई-बुक का सहारा लेकर नक्सलवाद को मजबूती देने में जुटे हैं। नक्सलवाद के खौफ से सुदूरवर्ती क्षेत्रों में विकास की गति धीमी है। नतीजतन, नक्सल प्रभावित क्षेत्रों में बेरोजगार युवाओं की फौज खड़ी है। नक्सली बेरोजगार युवाओं को निशाना बनाकर उनमें नक्सलवाद का दम भरने में लगे हैं। इन्हीं के जरिए वे संगठन विस्तार कर समानांतर सरकार की तलाश में हैं।

Tags:    

Swadesh Digital ( 10031 )

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Share it
Top